सैन्य निर्माण से जुड़ी तस्वीरों को पाकिस्तानी वाट्सऐप ग्रुप में भेजता था युवक, गिरफ्तार

महाराष्ट्र के नागपुर से गिरफ्तार युवक
महाराष्ट्र के नागपुर से गिरफ्तार युवक

महाराष्ट्र के नागपुर (Nagpur) से गिरफ्तार हुआ युवक मूल रूप से बिहार के गोपालगंज (Gopalganj) का रहने वाला था. अदालत ने आरोपी युवक को 9 अक्‍टूबर तक के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया है.

  • Share this:
गोपालगंज. बिहार के गोपालगंज के रहने वाले एक युवक को पाकिस्तानी एजेंट (Pakistan Spy) के रूप में सैन्य रक्षा क्षेत्र की कुछ तस्वीरे शेयर करने जुर्म में महाराष्ट्र के नागपुर (Nagpur) से गिरफ्तार किया गया है. युवक गोपालगंज जिले के बरौली के सोनबरसा के आलापुर गांव का रहने वाला है. युवक का नाम संजीव कुमार है जो बरौली के आलापुर निवासी कमल भगत का पुत्र है.

परिजनो के मुताबिक युवक लॉकडाउन के दौरान अपने घर पर ही रहता था, इस दौरान घर की आर्थिक हालत खराब होने लगी जिसके बाद वो डेढ़ महीने पहले ही महाराष्ट्र में मजदूरी करने के लिये चला गया था. लेकिन पाकिस्तानी व्हाट्सऐप ग्रुप में कुछ आपत्तिजनक संदिग्ध तस्वीरे शेयर करने के जुर्म में उसे गिरफ्तार कर लिया गया है. अभी वर्तमान में आरोपी युवक 09 अक्टूबर तक के लिए पुलिस की हिरासत में भेजा गया है जिससे पूछताछ की जा रही है.

गिरफ्तार युवक के चाचा हरि भगत के भतीजे के गिरफ्तार होने की सूचना है. परिजनों का कहना है कि उससे कही अनजाने में गलती हो गयी होगी जिसकी वजह से उसे गिरफ्तार किया गया होगा. यही बात गिरफ्तार युवक के बड़े भाई मंजय कुमार ने कही. मंजय कुमार के मुताबिक वह कैसे किसी दूसरे के सम्पर्क में आया था और उससे कैसे गलती हुई है परिजनों को इसकी कोई जानकारी नहीं है.



इस घटना के बाद से ही गांव में ही लोग तरह-तरह की बाते कर रहे हैं जबकि संजीव के परिजन डरे सहमे हुए है. दरअसल पाकिस्तानी व्हाट्सएप ग्रुप में देओलाली रक्षा क्षेत्र की तस्‍वीरें शेयर करने के मामले में अदालत ने एक युवक को 9 अक्‍टूबर तक के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया गया था. नागपुर के एक पुलिस अधिकारी ने बताया था कि 21 वर्षीय आरोपी संजीव कुमार को बीते शुक्रवार को कुछ सैनिकों ने उस समय पकड़ा था जब वह देओलली कैंप में सैन्य अस्पताल क्षेत्र की तस्वीरें क्लिक कर रहा था.
जानकारों के मुताबिक इस क्षेत्र में फोटोग्राफी या वीडियो बनाना प्रतिबंधित है. जिसकी वजह से सैनिकों ने युवक को तत्काल हिरासत में लेकर उसका मोबाइल फोन जब्त कर लिया. मोबाइल की जांच में पता चला कि युवक ने कथित तौर पर पड़ोसी देश में एक व्हाट्सएप ग्रुप पर तस्वीरें भेजी थीं. आरोपी संजीव कुमार को शनिवार शाम को देओलली कैंप पुलिस को सौंप दिया गया.

महाराष्ट्र पुलिस के मुताबिक हिरासत में लिया गया युवक बिहार के गोपालगंज जिले का रहना वाला है और यहां देओलली कैंप रेलवे स्टेशन के पास बस्ती में रहता है. वो सैन्य क्षेत्र में हो रहे निर्माण कार्य में मजदूरी कर रहा था. जिसे आधिकारिक रहस्य अधिनियम, 1923 (Official Secrets Act, 1923) की धारा 3 और 4 के तहत मामला दर्ज किया गया है, आरोपी के गांव की भी जांच की जा रही है. ठेकेदार, जिसने उसे काम पर रखा था और उसके सहकर्मियों से भी पूछताछ की जा रही है. फिलहाल पुलिस ने युवक को गिरफ्तार कर लिया है और अधिक जानकारी निकालने में जुटी है की आखिर किसके कहने पर वो ये काम कर रहा था और क्या इससे पहले भी उसने इस तरह से तस्वीरें भेजी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज