• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • बिहार: लॉकडाउन में ऑनलाइन गेम की आदत! अभिभावक ने लगाई फटकार तो नाबालिग ने उठाया ये खतरनाक कदम

बिहार: लॉकडाउन में ऑनलाइन गेम की आदत! अभिभावक ने लगाई फटकार तो नाबालिग ने उठाया ये खतरनाक कदम

गोपालगंज में दो बच्चों ने आत्महत्या की कोशिश की.

गोपालगंज में दो बच्चों ने आत्महत्या की कोशिश की.

Gopalganj News: सदर अस्पताल के चिकित्सक डॉक्टर पीसी सिन्हा ने कहा कि सदर अस्पताल में मांझागढ़ और उचकागांव थाना क्षेत्र से 2 मामले आए थे. दोनों मामलों में छात्रों ने गले में फंदा लगाकर खुदकुशी की कोशिश की थी.

  • Share this:
गोपालगंज. लॉकडाउन के दौरान स्कूल कॉलेज क्या बंद हुए बच्चों के अंदर ऑनलाइन गेम खेलने की तलब लग गई. इसका बुरा असर ऐसा हो रहा है कि ये  गेम खेलने का तलब बच्चों को मानसिक रूप से बीमार बना रहा है. ताजा मामला गोपालगंज का है जहां ऑनलाइन गेम खेलने से मना करने पर दो बच्चों ने ऐसा कदम उठाया कि उनके जान पर बन आ गई. दो अलग-अलग मामलों में दोनों बच्चों को गंभीर हालात में सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां से उन्हें गोरखपुर के लिए रेफर कर दिया गया.
पहला मामला माझागढ़ थाना क्षेत्र के रामनगर गांव का है. यहां 14 वर्षीय स्कूली छात्र राजन कुमार ने गले में फंदा लगाकर सुसाइड करने की कोशिश की.

बताया जा रहा है कि पीड़ित छात्र राजन कुमार को उसके पिता ने ऑनलाइन गेम खेलने को लेकर फटकार लगाई थी. पिता ने अपने बेटे को मोबाइल में ऑनलाइन गेम नहीं खेलने की हिदायत दी थी. इसके बाद भी राजन कुमार नहीं माना और वह लगातार ऑनलाइन गेम खेलता रहा. जिसको लेकर दो दिनों पहले पिता ने जब बेटे को जमकर फटकार लगाई तो छात्र ने गले में फंदा लगाकर खुदकुशी की कोशिश की. पीड़ित छात्र को मांझागढ़ पीएचसी में भर्ती कराया गया जहां से उसे सदर अस्पताल में रेफर कर दिया गया. यहां इलाज के बाद उसे बेहतर इलाज के लिए गोरखपुर रेफर कर दिया गया.

केस नंबर- 2
ऐसा ही मामला उचकागांव थाना क्षेत्र के अरना गांव का है. यहां पर 12 वर्षीय स्कूली छात्र छांगुर कुमार ने गले में फंदा लगाकर खुदकुशी की कोशिश की. छांगुर के पिता का नाम बलिटर साह है. बताया जाता है कि बलिटर साह का 12 वर्ष पुत्र छांगुर मोबाइल में गेम खेलने का आदी हो गया था. पिता को जब इसकी भनक लगी उन्होंने बेटे को फटकार लगाई. फटकार लगने से नाराज बेटे ने गले में फंदा लगाकर खुदकुशी की कोशिश की जिसे सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया. यहां उसकी नाजुक हालत को देखते हुए गोरखपुर रेफर कर दिया गया.

अक्सर आते हैं ऐसे मामले
सदर अस्पताल के चिकित्सक डॉक्टर पीसी सिन्हा ने कहा कि सदर अस्पताल में मांझागढ़ और उचकागांव थाना क्षेत्र से 2 मामले आए थे. दोनों मामलों में छात्रों ने गले में फंदा लगाकर खुदकुशी की कोशिश की थी. दोनो की नाजुक हालत को देखते हुए गोरखपुर रेफर कर दिया गया. गोपालगंज में ऑनलाइन गेम खेलने का यह कोई पहला मामला नहीं है. इसके पहले भी कई छात्र जानलेवा कदम उठा चुके हैं जिसमें दो मामलो में दो बच्चों की मौत भी हो चुकी है. बावजूद इसके नई पीढ़ी ऑनलाइन गेम खेलने के दौरान जानलेवा कदम उठा के रहे हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज