हत्या के आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग करने पर थानाध्यक्ष ने महिला को दी गालियां

(फाइल फोटो)

(फाइल फोटो)

पीड़ित परिजनों ने इस पूरी घटना का वीडियो (Video) भी अपने कैमरे में बना लिया है. इस वीडियो में साफ तौर पर थानाध्यक्ष की आवाज सुनी जा सकती है.

  • Share this:
गोपालगंज. गोपालगंज में कटेया पुलिस (Katya Police) का एक अमानवीय चेहरा सामने आया है. इस वीडियो में जब एक महिला अपने मृत बच्चे के तथाकथित हत्या (Murder) को लेकर गुहार लगाने के लिए कटेया थाने में गई तो कटेया थानाध्यक्ष के द्वारा महिला और उसके पति को वहां से भाग जाने का आदेश दिया गया. जबकि महिला थानाध्यक्ष का पैर पकड़कर हत्यारों की गिरफ़्तारी की मांग कर रही थी. साथ ही वह कह रही थी कि अरोपियों के द्वारा उसके परिवार को जान से मारने की धमकी मिल रही है. इसके बाद भी थानाध्यक्ष का दिल नहीं पिघला. वहीं, थानाध्यक्ष (Station Head) ने अमानवीय चेहरा देखाते हुए महिला को गन्दी- गन्दी गालियां भी दीं.



इस पूरी घटना का पीड़ित परिजनों ने वीडियो भी बनाया है. इस वीडियो में साफ तौर पर कटेया के थानाध्यक्ष अश्विनी कुमार तिवारी की आवाज सुनी जा सकती है. हलांकि, ये गाली इतनी गन्दी है कि दर्शकों को भी नहीं सुनाया जा सकता है. इस वीडियो के वायरल होने के बाद गोपालगंज एसपी ने मामले के जांच के आदेश दे दिए है.जानकारी के मुताबिक, कटेया के बेला डीह गांव के रहने वाले राजेश शाह का 15 वर्षीय पुत्र रोहित कुमार दोस्तों के साथ खेलने गया था. उसके बाद से ही वह लापता हो गया. उसका शव गांव के बाहर बेलही खास गांव के बाहर नदी में अगले दिन तैरते हुए मिला. इस शव के मिलने के बाद राजेश शाह ने अपने गांव के ही 6 युवकों को नामजद किया और उसने अपने बेटे की हत्या करने का आरोप लगाया. इस मामले में कटेया पुलिस ने तत्काल करवाई करते हुए चार आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भी भेज दिया. पीड़ित राजेश शाह अपनी पत्नी के साथ मृतक बेटे के दो अन्य नामजद हत्या आरोपियों की गिरफ़्तारी की मांग करने के लिए एक सप्ताह पूर्व कटेया थाने में गए थे.



थानाध्यक्ष ने उन्हें दूसरे जगह घर बनवा कर रहने की सलाह दी

यहां जब वे कटेया थानाध्यक्ष के पास हत्या के अरोपियों के द्वारा जान से मारने की धमकी देने की शिकायत की तो उलटे थानाध्यक्ष ने उन्हें दूसरे जगह घर बनवा कर रहने की सलाह दी. पीड़ित परिजनों ने इस पूरी घटना का वीडियो भी अपने कैमरे में बना लिया. इस वीडियो में साफ थानाध्यक्ष की आवाज सुनी जा सकती है, जिसमें वे थाना से पीड़ित परिजनों को भाग जाने का आदेश दे रहे है. वहीं, इस मामले में जब कटेया थानाध्यक्ष अश्विनी कुमार तिवारी से मोबाइल पर बात करने की कोशिश की गयी तो उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया. जबकि एसपी मनोज कुमार तिवारी ने मोबाइल पर बताया की उन्हें भी ऐसे वीडियो के बारे में जानकारी मिली है. वे मामले की जांच कराने के बाद दोषी पाए जाने पर थानाध्यक्ष के खिलाफ करवाई करेंगे.
ये भी पढ़ें- 





महिला के एक फोन पर पीपीई किट पहनकर खुद दवा देने घर पहुंच गए आजमगढ़ के SP



लॉकडाउन में घर से भागने की जिद करने पर युवक ने कर दी प्रेमिका की हत्या



 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज