लाइव टीवी
Elec-widget

गोपालगंज: 5 साल में भी नहीं बन पाया NH 28 पर प्रस्तावित एलिवेटेड कॉरिडोर

News18 Bihar
Updated: November 13, 2019, 4:13 PM IST
गोपालगंज: 5 साल में भी नहीं बन पाया NH 28 पर प्रस्तावित एलिवेटेड कॉरिडोर
गोपालगंज में NH28 पर एलिवेटेड रोड बनाने की स्वीकृति दी गई थी, लेकिन अब तक नहीं बनी.

गोपालगंज के जदयू सांसद डॉ आलोक कुमार सुमन ने अगले 36 महीने में जिले में एलिवेटेड कॉरिडोर के निर्माण कार्य पूरा हो जाने की उम्मीद जताई है. सांसद डॉ आलोक कुमार सुमन ने बताया कि उन्होंने संसद के मानसून सत्र में एनएच 28 से सम्बंधित कई सवाल उठाए थे.

  • Share this:
गोपालगंज. देश के नार्थ-ईस्ट कॉरिडोर (North-East Corridor) के नाम से जाना जाने वाला एनएच 28 (NH-28) जगह-जगह जर्जर हो गया है. यूपी की सीमा से सटे बिहार में कई किलोमीटर तक इस सडक पर चलना दूभर हो गया. वहीं एनएच 28 पर ही गोपालगंज (Gopalganj) शहर के बंजारी मोड़ से अरार मोड़ तक केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने एलिवेटेड कॉरिडोर बनाने की स्वीकृति दी थी. जो अब सिर्फ कागजों में ही दम तोड़ रही है. गोपालगंज से गुजरने वाली इस एनएच 28 पर बन रहे ओवर ब्रिज (Over bridge) का काम ठप हो गया है और लोगों को जर्जर एनएच 28 से भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

एनएच 28 का हिस्सा गोपालगंज शहर से होकर गुजरती है. शहर में बंजारी मोड़ से लेकर अरार मोड़ तक करीब पौने दो किलोमीटर लम्बी इस सडक पर कई जगह ओवर ब्रिज का निर्माण किया जा रहा था, लेकिन एनएच 28 के दो लेन के निर्माण के दौरान स्थानीय भाजपा विधायक सुभाष सिंह और तत्कालीन भाजपा सांसद जनक राम ने केन्द्रीय परिवहन राज्यमार्ग मंत्री नितिन गडकरी से एनएच 28 पर फ्लाईओवर के निर्माण कराने की मांग की थी.

केंद्रीय मंत्री ने दी थी स्वीकृति
करीब 05 साल पहले केंद्रीय मंत्री गडकरी ने जिले के बंजारी मोड़ से अरार मोड़ तक 2.75 किलोमीटर लम्बी एलिवेटेड कॉरिडोर बनाने की स्वीकृति भी दे दी थी. तब गोपालगंज के लोगो में एक जामयुक्त और बेहतरीन सड़क बनने की उम्मीद जगी. लेकिन, आज 05 साल बाद भी इस सड़क का जीर्णोद्धार नहीं हो सका.

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने सड़ निर्माण की स्वीकृति दी थी. ये मामला संसद में भी उठ चुका है.


जर्जर सड़क से जान पर खतरा
पूर्व से बन रहे रहे फ्लाईओवर के निर्माण का कार्य ठप हो गया है. जिसकी वजह से बंजारी मोड़ से लेकर हजियापुर होते हुए अरार मोड़ तक एनएच 28 एकदम जर्जर हो गया है. इस जर्जर सडक पर चलना जानलेवा साबित हो रहा है. इसके साथ ही इस जर्जर एनएच 28 पर आये दिन लम्बा जाम लगता है. जबकि एनएच में बने बड़े-बड़े गड्ढे की वजह से बड़े वाहनों का दुर्घटना भी होता है. जिसमें कई लोगों की जाने जा चुकी है.
Loading...

जाम से होती है परेशानी
स्थानीय सामाजिक कार्यकर्ता व युवा जदयू के जिला सचिव चेतन श्रीवास्तव के मुताबिक केन्द्रीय मंत्री के आश्वासन के बाद उम्मीद जगी थी की शहर में एलिवेटेड कॉरिडोर बन जाने से जाम से मुक्ति मिलेगी. इसके साथ ही लोगो का वयवसाय भी प्रभावित नहीं होगा. लेकिन घोषणा के बाद अंडर पास कण निर्माण कार्य भी ठप्प हो गया और 05 साल से फ्लाईओवर का सपना देख रहे लोगो की उम्मीदे भी अब धूमिल होने लगी है.

संसद में उठा था मामला
हलाकि गोपालगंज के जदयू सांसद डॉ आलोक कुमार सुमन ने अगले 36 महीने में जिले में एलिवेटेड कॉरिडोर के निर्माण कार्य पूरा हो जाने की उम्मीद जताई है. सांसद डॉ आलोक कुमार सुमन ने बताया कि उन्होंने मानसून सत्र में एनएच 28 से सम्बंधित कई सवाल उठाए थे. जिसके जवाब में केंद्रीय परिवहन मंत्रालय से बताया कि यूपी में 5 हजार किलोमीटर और बिहार में 3 हजार किलोमीटर लम्बी दो लेन एनएच 28 का निर्माण कार्य पूरा कर लिया गया है.

जेडीयू के सांसद आलोक कुमार सुमन ने संसद में उठाया था मामला.


गोपालगंज शहर में बंजारी मोड़ से लेकर अरार मोड़ तक करीब पौने दो किलोमीटर लम्बी एलिवेटेड कॉरिडोर बनाने का प्रस्ताव लंबित है. इस कॉरिडोर के निर्माण को लेकर प्रक्रिया अंतिम चरण में है. प्रक्रिया पूरी होने के 36 महीने के अन्दर यह सड़क पूरी हो जाएगी.

सांसद ने कहा कि शीतकालीन सत्र में भी वे इस मुद्दे को दोबारा उठाएंगे और इस निर्माण को जल्द से जल्द पूरा करने की मांग करेंगे. बहरहाल सरकारी प्रक्रिया की भेंट चढ़ी इस परियोजना के पूरा होने में अभी गोपालगंज के लोगो को तीन साल और इंतजार करना पड़ सकता है.

रिपोर्ट- मुकेश कुमार

ये भी पढ़ें-

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गोपालगंज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 13, 2019, 4:09 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com