न्यूड तस्वीर वायरल करने की धमकी से छात्रा ने की थी सुसाइड, SP ने महिला थानेदार को किया निलंबित

युवती मनचले युवकों द्वारा की गई छेड़खानी के बाद शिकायत करने के लिए महिला थाना गई थी, लेकिन महिला थानाधय्क्ष ने उसे शिकायत नहीं करने की धमकी दी.

News18 Bihar
Updated: August 6, 2019, 4:02 PM IST
न्यूड तस्वीर वायरल करने की धमकी से छात्रा ने की थी सुसाइड,  SP ने महिला थानेदार को किया निलंबित
युवती मनचले युवकों द्वारा की गई छेड़खानी के बाद शिकायत करने के लिए महिला थाना गई थी, लेकिन महिला थानाधय्क्ष ने उसे शिकायत नहीं करने की धमकी दी.
News18 Bihar
Updated: August 6, 2019, 4:02 PM IST
बिहार के गोपालगंज जिले में छेड़खानी से तंग आकर 10वीं की छात्रा ने रविवार की देर रात खुदकुशी कर ली थी.  परिजनों का आरोप है कि महिला थाने में चार अगस्त को मामले में शिकायत की गयी थी, लेकिन पुलिस ने कोई एक्शन नहीं लिया. आरोप यह भी है कि धमकी के दौरान महिला अधिकारी द्वारा सुलह करने का दबाव डाला गया. महिला अधिकारी पीड़िता की मां के ऊपर झूठा मुकदमा करने और पीड़िता का अश्लील फोटो वायरल करने की धमकी देने लगी जिसकी वजह से पीड़िता ने फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली. अब इस मामले में एसपी निताशा गुड़िया ने कार्रवाई करते महिला थानाध्यक्ष को निलंबित कर दिया है और मामले की जांच के आदेश दिए हैं.

बता दें कि मामला मांझागढ़ के जगरनाथा की है. युवती मनचले युवकों द्वारा की गई छेड़खानी के बाद शिकायत करने के लिए महिला थाना गई थी, लेकिन महिला थानाधय्क्ष ने उसे शिकायत नहीं करने की धमकी दी. आरोप है कि इस दौरान महिला अधिकारी ने सुलह करने का दबाव डाला. बताया जा रहा है कि उक्त अधिकारी ने पीड़िता की मां पर झूठा मुकदमा करने और पीड़िता का अश्लील फोटो वायरल करने की धमकी भी दी. कहा जा रहा है कि इसी वजह से पीड़िता ने फांसी का फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली.

शहर में कोचिंग करने जाती थी युवती
गौरतलब है कि परिजनों ने महिला थानाध्यक्ष कुमकुम कुमारी पर ये संगीन आरोप लगा हैं. अपनी बेटी को खोने वाली मृतका की मां  और पिता के अनुसार उनकी बेटी गांव से गोपालगंज नगर थाना के जंगलिया मोहल्ले में कोचिंग करने जाती थी. कोचिंग जाने के दौरान उनके गांव का ही एक लड़का शहजाद अली, इरफ़ान अली और उसके तीन दोस्त अक्सर उसे छेड़ते थे.

गोपालगंज में सुसाइड
पीड़िता द्वारा लिखा गया सुसाइड नोट


दुपट्टा तक खींच लेते थे मनचले
मृतका की मां के मुताबिक आरोपी मनचले उनकी बेटी का दुपट्टा खींचते थे और उसकी साइकिल पकड़ लेते थे. बात करने के लिए मोबाइल से फोटो खींचते थे. इसकी शिकायत जब छात्रा ने अपनी मां और पिता से की तो इस घटना को लेकर पीड़ित रविवार को महिला थाना आये. यहां महिला थानाध्यक्ष ने शिकायत करने के बावजूद आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की बल्कि बल्कि उल्टे पीड़ित परिजनों को झूठे मुकदमे में फंसाने और छात्रा का फोटो वायरल करने की धमकी दी जाने लगी.
Loading...

केस मैनेज करने का था दबाव
मृतका के पिता के मुताबिक महिला थानाधय्क्ष खुद इस मामले में प्राथमिकी दर्ज नहीं करने की दबाव बनाने लगीं, लेकिन बाद में स्थानीय लोगों के दबाव की वजह से मांझा थाना में कल छेड़खानी की प्राथमिकी दर्ज किया गई. प्राथमिकी दर्ज करने के बावजूद अरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई बल्कि देर रात तक छात्रा को केस उठाने का दबाव दिया जाता रहा.

सुसाइड नोट में लिखा
इसी दबाव और लोकलाज की वजह से छात्रा ने खुदकुशी कर ली. पीड़िता ने अपने सुसाइड नोट में पिता के नाम एक पत्र लिखा है जिसमें आरोपी को नहीं छोड़ने की अपील की गई है. लड़की के सुसाइड की खबर मिलते ही कमला राय कॉलेज के छात्र संगठन के सैकड़ों लोग सड़कों पर उतर गए और एनएच 28 को जगरनाथ गांव के समीप जाम कर दिया.

एसपी ने दिया था कार्रवाई का आश्वासन
इस मामले में एसपी निताशा गुडिया ने बताया था कि छात्रा की शिकायत के बाद सोमवार को ही मांझा थाना में प्राथमिकी दर्ज कर ली गयी थी. आरोपी की गिरफ़्तारी के लिए छापेमारी भी की गई, लेकिन कोई गिरफ़्तारी नहीं हो सकी. एसपी ने कहा था कि अगर परिजनों का कोई और आरोप है तो वो लिखित शिकायत दें कार्रवाई की जाएगी. मंगलवार को एसपी ने थानेदार को निलंबित कर कार्रवाई शुरू कर दी है.

रिपोर्ट- मुकेश कुमार

ये भी पढ़ें-


संयुक्त कश्मीर पर NDA की वैचारिक प्रतिबद्धता से हम अलग नहीं - JDU




'हलचल' की आशंका के बीच इस 'गोल्डन चांस' को गंवाना नहीं चाहते CM नीतीश!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गोपालगंज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 6, 2019, 3:59 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...