COVID-19: गोपालगंज में बढ़ी सख्ती, इन 3 बड़े राज्यों से आने वालों की होगी कोरोना जांच, होली मिलन पर रोक

लोगों से मास्क लगाने और  सोशल डिस्टनसिंग फॉलो करने की अपील.

लोगों से मास्क लगाने और सोशल डिस्टनसिंग फॉलो करने की अपील.

कोरोना (COVID-19) के बढ़ते मामलों को देखते हुए गोपालगंज प्रशासन अलर्ट हो गया है. महाराष्ट्र, पंजाब और केरला से आने वाले लोगों की कोविड-19 की जांच कराने की कवायद शुरू कर दी है.

  • Share this:
गोपालगंज. देश में कोरोना (COVID-19) के बढ़ते मामले को लेकर गोपालगंज जिला प्रशासन अलर्ट मोड पर आ गई है. इसके साथ ही प्रशासन ने लोगों को भी सतर्क रहने की हिदायत दी है. इसके साथ ही गोपालगंज में महाराष्ट्र, पंजाब और केरला से आने वाले लोगों की कोविड-19 की जांच कराने की कवायद शुरू कर दी है. डीएम डॉ. नवल किशोर चौधरी ने बताया कि गोपालगंज में 5 लाख 85 हजार 55 लोगों के कोरोना जांच किए गए थे. इसमें 4 हजार 894 लोगों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी.

डीएम ने कहा कि देश में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को लेकर कई फैसले लिए गए है. इसमें सार्वजनिक स्थलों पर होली मिलन समारोह के कार्यक्रम पर रोक रहेगी. इसके साथ ही बस स्टैंड और अन्य सार्वजनिक स्थलों पर अब कोरोना की नेगेटिव रिपोर्ट का सर्टिफिकेट ट्रांसपोर्ट ऑपरेटरों को लगाना होगा.

प्रशासन ने जारी किया सख्त निर्देश

डीएम ने लोगों से मास्क लगाने और घर से बाहर निकलने पर सोशल डिस्टनसिंग को फॉलो करने की अपील की है. डीएम ने कहा कि कल तक जिले में कोरोना के एक भी नए मामले सामने नहीं आए थे. लेकिन गोपालगंज सदर अस्पताल के जांच में सीवान के एक युवक की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. इसके बाद जिले में प्रतिदिन कोरोना की जांच की रफ्तार बढ़ा दी गई है. डीएम ने कहा कि जिले में प्रतिदिन 2 हजार से लेकर 22 सौ तक कोरोना के जांच किए जा रहे है. इसमें आरटीपीसीआर , ट्रू नेट और अन्य जांच शामिल है. डीएम ने कहा कि जिले में मास्क लगाने को लेकर भी एडवाइजरी जारी की गई है.
ये भी पढ़ें: हरियाणा: सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वालों की खैर नहीं, संपत्ति क्षति वसूली विधेयक पास

पटना में पुलिस वसूलेगी जुर्माना

बिहार की राजधानी पटना में अब मास्क लगाए बिना निकलने वाले लोगों से पुलिस जुर्माना वसूलेगी. शहर को कोरोना गाइडलाइन्स को फॉलो कराने के लिए लिए ने कई टीमें बनाई हैं. साथ ही प्रशासन ने ड्यूटी मजिस्ट्रेट की तैनात किये हैं.पुलिस की टीमें कोरोना सक्रंमण की रोकथाम और बचाव के लिये पटना के चौक-चौराहे से लेकर अनुमंडल तक मास्क चेकिंग कर रही हैं और सड़कों पर जो लोग बिना मास्क दिख रहे हैं उनका पचास रुपये का चालान काटा जा रहा है. चालान कटने के बाद जिससे पैसा वसूला जा रहा है उन्हें मजिस्ट्रेट की ओर से एक थ्री लेयर डिस्पोजेबल मास्क दिया जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज