Home /News /bihar /

स्कूल बिहार में, पढ़ने वाले बच्चे यूपी के, जानें 68 छात्र और 12 शिक्षकों वाले अनोखी पाठशाला की कहानी

स्कूल बिहार में, पढ़ने वाले बच्चे यूपी के, जानें 68 छात्र और 12 शिक्षकों वाले अनोखी पाठशाला की कहानी

बिहार के गोपालगंज जिला का स्कूल जहां यूपी के बच्चे पढ़ते हैं

बिहार के गोपालगंज जिला का स्कूल जहां यूपी के बच्चे पढ़ते हैं

Gopalganj Unique School: बिहार के गोपालगंज और यूपी के देवरिया जिले की सीमा पर स्थित मिडिल स्कूल में पढ़ने नहीं आते हैं छात्र. आसपास के इलाकों में निजी स्कूलों की बड़ी तादाद के कारण इस साल सिर्फ 11 बच्चों ने लिया दाखिला. कुल 68 बच्चों के लिए स्कूल में 12 शिक्षक हैं.

अधिक पढ़ें ...

गोपालगंज. बिहार में सरकारी स्कूलों में गुणवत्ता और बेहतर शिक्षा के लिहाज से सरकार हर साल करोड़ों रुपए खर्च करती है. लेकिन बिहार-यूपी सीमा पर स्थित एक स्कूल की कहानी थोड़ी अलग है. हम बात कर रहे हैं गोपालगंज जिले के विजयीपुर प्रखंड के राजकीय मध्य विद्यालय (Gopalganj Unique School) रगरगंज की. महज 68 छात्रों वाले इस स्कूल में पढ़ाने के लिए 12 शिक्षक नियुक्त हैं. इन छात्रों में भी 8 बच्चे पड़ोसी राज्य उत्तर प्रदेश के हैं. जमीनी हकीकत यह है कि अव्यवस्था के कारण यहां एक भी बच्चा पढ़ने नहीं आता.

News 18 की टीम जब बिहार के गोपालगंज और उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले की सीमा से सटे इस स्कूल में पहुंची तो यहां पर क्लास में ना तो कोई छात्र था और ना ही छात्रों की कोई चहल-पहल. सिर्फ इक्का-दुक्का शिक्षिका मौजूद थीं. इस स्कूल में पहली से आठवीं तक की पढ़ाई होती है. दोपहर में मिड-डे मील की छुट्टी होती है. न्यूज 18 की टीम जब स्कूल में पहुंची, उस समय एक भी छात्र स्कूल में नहीं था. हालांकि स्कूल प्रबंधन कैमरा देखते ही शिक्षकों और छात्रों के अटेंडेंस बनाने लगा.

स्कूल के प्रिंसिपल जनार्दन ठाकुर ने सफाई दी कि इस स्कूल में छात्रों की संख्या काफी कम है, क्योंकि बिहार और यूपी की सीमा पर प्राइवेट स्कूलों की संख्या ज्यादा है. इस साल महज 11 बच्चों का एडमिशन हुआ है. ऐसे में यह सवाल लाजिमी है कि जब स्कूल में सिर्फ 68 बच्चों का ही एडमिशन है, तो इन्हें पढ़ाने के लिए 12 शिक्षकों की क्या जरूरत है? गोपालगंज शिक्षा विभाग इस स्कूल में कार्यरत 12 शिक्षकों पर हर महीने लाखों रुपए वेतन के रूप में खर्च करता है. शिक्षा जागरूकता के लिए सरकार अभियान भी चलाती है, लेकिन बिहार-यूपी सीमा पर स्थित इस स्कूल को लेकर नतीजा सिफर है.

विजयीपुर प्रखण्ड के शिक्षा पदाधिकारी अशोक कुमार से जब इस मामले में बात की गई तो उन्होंने बताया कि वो खुद इस मामले की जांच करेंगे. स्कूल में बच्चों की संख्या के मुताबिक शिक्षकों की तादाद के बारे में जब न्यूज 18 ने ध्यान दिलाया, तब उन्होंने कहा कि स्कूल का भौतिक सत्यापन करेंगे और सभी आवश्यक कार्रवाई की जाएगी.

Tags: Bihar News, Gopalganj news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर