सऊदी अरब कमाने गए 10 युवकों को कंपनी ने बनाया बंधक, परिजनों ने वापसी की लगाई गुहार
Gopalganj News in Hindi

सऊदी अरब कमाने गए 10 युवकों को कंपनी ने बनाया बंधक, परिजनों ने वापसी की लगाई गुहार
पीड़ित आजाद अंसारी के भाई जफिउल्लाहह अंसारी के मुताबिक, जब से उनका भाई काम करने के लिए सऊदी गया है तब से उसे खाना-पीना और काम कुछ भी नहीं दिया जा रहा है.

पीड़ित युवक की मां जमीना खातून (Jameena Khatoon) ने डीएम को आवेदन देकर वतन वापसी की गुहार लगायी है.

  • Share this:
गोपालगंज. बिहार के गोपालगंज (Gopalganj) के रहने वाले आजाद अंसारी को सऊदी अरब (Saudi Arab) में बंधक बना लिया गया है. खास बात यह है कि बीते दिसम्बर महीने से अंसारी को बंधक बनाकर रखा गया है. अब बंधक बने युवक के परिजनों ने गोपालगंज के डीएम अरशद अजीज (DM Arshad Aziz) को आवेदन देकर वतन वापसी की गुहार लगाई है. पीड़ित परिजनों के मुताबिक, उनके बेटे के साथ गोपालगंज के 9 और कामगारों को कंपनी ने बंधक बना लिया है. आरोप है कि वतन वापस लौटने के लिए कंपनी पैसे और विजा भी उपलब्ध नहीं करा रही है.

जानकारी के मुताबिक, कुचायकोट के सासामुसा निवासी आजाद अंसारी दिसम्बर माह में सऊदी अरब के अमगाज अलखोबर कांट्रेक्टिंग कंपनी में काम करने के लिए गए थे. उन्हें और उनके अन्य 9 साथियों को अल करीमी कंपनी और एशियाना इंटरनेशनल ऑफिस के माध्यम से सऊदी में भेजा गया था. लेकिन जब से उन्हें सऊदी की इस कंपनी में भेजा गया है, उसके बाद से ही आजाद अंसारी और उनके अन्य साथियोॆ को कोई काम नहीं दिया गया. यहां कम्पनी के द्वारा न तो पैसे दिए जाते है और न ही उन्हें खाना दिया जा रहा है. इसकी वजह से इन युवकों की हालात लगातार बिगड़ रही है.

दिल्‍ली में अब कोरोना पॉजिटिव हो सकेंगे होम क्‍वारंटाइन, LG ने वापस लिया फैसला



वापसी की गुहार लगायी है
पीड़ित युवक की मां जमीना खातून ने डीएम को आवेदन देकर वतन वापसी की गुहार लगायी है. जमीना खातून के मुताबिक, उनका बेटा जब से सऊदी गया है, उसके बाद से ही उसे वहां कोई काम नहीं दिया गया है. वह अपने बच्चे को सूद पर पैसे लेकर विदेश भेजी थी. लेकिन वहां उनके बेटे को काम और भोजन कुछ भी नहीं दिया जा रहा है. पीड़ित आजाद अंसारी के भाई जफिउल्लाहह अंसारी के मुताबिक, जब से उनका भाई काम करने के लिए सऊदी गया है तब से उसे खाना-पीना और काम कुछ भी नहीं दिया जा रहा है. उसके साथ और भी गोपालगंज के लोग शामिल हैं. लेकिन उन्हें कोई मदद नहीं मिल रही है. इसलिए उन्होंने अपने भाई की घर वापसी को लेकर डीएम से गुहार लगाई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading