गोदाम पहुंचने से पहले ही बारिश में सड़ा हजारों बोरा गेहूं, FCI ने दी सफाई

बिहार के गोपालगंज में एफसीआई की लापरवाही से खराब हुआ अनाज

Gopalganj News: बिहार के गोपालगंज से सामने आई इस लापरवाही के बारे में जब एफसीआई के सहायक मैनेजर हंसराज सिंह से पूछा गया तो उन्होंने महज 25 से 30 क्विंटल अनाज के ही लॉस होने की बात कही. हालांकि एफसीआई ने इस पूरे मामले पर स्पष्टीकरण भी दिया है.

  • Share this:
गोपालगंज. बिहार के गोपालगंज में एफसीआई (FCI) यानी फूड कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया और रेलवे की लापरवाही से करीब एक हजार बोरी में रखा सैकड़ो क्विंटल अनाज खराब हो गया. एफसीआई द्वारा आनन-फानन में बर्बाद हुए गेहूं को गोदाम में भेज दिया गया है. मामला मीरगंज के हथुआ रेलवे स्टेशन के रेक पॉइंट का है. दरअसल एफसीआई द्वारा पंजाब से 52 हजार बोरियों में गेहूं मंगाया गया था. इस गेहूं की ढुलाई रेलवे के द्वारा की गई थी लेकिन ढुलाई से पहले एफसीआई और रेलवे के द्वारा गेहूं की ठीक से पैकिंग या रख रखाव नहीं की गई जिसकी वजह करीब एक हजार से ज्यादा बोरे में रखा गेहूं खराब हो गया है. हालांकि एफसीआई ने इस पर अपनी ओर से सफाई भी दी है.

बता दें कि एफसीआई के अधिकारी इसे ट्रांसपोर्टेशन लॉस बता रहे हैं और इसे अनाज की मामूली बर्बादी कह कर मामले से पल्ला झाड़ रहे थे. News 18 की टीम ने ग्राउंड रिपोर्ट के जरिए यह दिखाने की कोशिश की है कि कैसे हथुआ रेलवे स्टेशन पर मालगाड़ी में एफसीआई से गेहूं की ढुलाई की गई है. 42 बोगी में 52 हजार बोरी गेहूं मंगाए गए हैं और प्रत्येक बोगी में करीब 30 से 40 बोरी गेंहू पानी की वजह से भीग गए हैं. भींगने की वजह से गेहूं पर अनाज जम गए हैं और बिल्कुल बर्बाद हो गए. एफसीआई के सहायक मैनेजर हंसराज सिंह के मुताबिक महज 25 से 30 क्विंटल अनाज ही लॉस हुआ है और जितने भी गेहूं के बोरे पानी की वजह से भींग गए है उसे सुखा कर दोबारा उपयोग में लाया जाएगा.

हालांकि एफसीआई के द्वारा आला पदाधिकारियों को विभाग के द्वारा जो रिपोर्ट भेजी गई है उस रिपोर्ट के मुताबिक रेलवे के प्रत्येक बोगी में 15 से 25 बोरी अनाज के भींगे हैं इस हिसाब से ट्रेन की 42 बोगी में करीब एक हजार बोरी गेंहू पानी की वजह से भीग गए हैं. हालांकि फूड कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया ने इस पर सफाई देते हुए कहा है कि इस पूरी प्रक्रिया में तय मानक का उपयोग किया गया है.

इस मामले पर एफसीआई द्वारा जारी स्पष्टीकरण में कहा गया है कि इन कुछ भीगे हुए बोरों को भारतीय खाद्य निगम के हाजीपुर मंडल कार्यालय के अंतर्गत मीरगंज के हथवा रेलवे स्टेशन के रैक पॉइंट पर उतारा गया है. जिसको भारतीय खाद्य निगम के द्वारा निर्धारित मानक प्रक्रिया का पालन करते हुए उन अनाजों को अलग कर, सुखाकर उपचारित किया जा रहा है. जन वितरण प्रणाली में उपयोग हेतु सिर्फ वही अनाज जारी किया जाता है जो निर्गम हेतु गुण नियंत्रण मानदंडों के अनुरूप हो.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.