Home /News /bihar /

गोपालगंज में धान की खरीद नहीं होने से किसानों का बुरा हाल

गोपालगंज में धान की खरीद नहीं होने से किसानों का बुरा हाल

गोपालगंज में धान की खेती से परिवार चलाने वाले किसानों का बुरा हाल है. वहीं, सरकारी आदेश के बावजूद गोपालगंज मे पैक्सों के माध्यम से धान की खरीद नहीं की जा रही है. जिससे किसान औने पौने दाम पर बिचौलियों के हाथों अपना धान बेचने को विवश हैं.

गोपालगंज में धान की खेती से परिवार चलाने वाले किसानों का बुरा हाल है. वहीं, सरकारी आदेश के बावजूद गोपालगंज मे पैक्सों के माध्यम से धान की खरीद नहीं की जा रही है. जिससे किसान औने पौने दाम पर बिचौलियों के हाथों अपना धान बेचने को विवश हैं.

गोपालगंज में धान की खेती से परिवार चलाने वाले किसानों का बुरा हाल है. वहीं, सरकारी आदेश के बावजूद गोपालगंज मे पैक्सों के माध्यम से धान की खरीद नहीं की जा रही है. जिससे किसान औने पौने दाम पर बिचौलियों के हाथों अपना धान बेचने को विवश हैं.

अधिक पढ़ें ...
गोपालगंज में धान की खेती से परिवार चलाने वाले किसानों का बुरा हाल है. वहीं, सरकारी आदेश के बावजूद गोपालगंज मे पैक्सों के माध्यम से धान की खरीद नहीं की जा रही है. जिससे किसान औने पौने दाम पर बिचौलियों के हाथों अपना धान बेचने को विवश हैं.

सबसे बुरा हाल सदर प्रखंड सहित कुचायकोट, माझा, फुलवरिया, बरौली, बैकुंठपुर प्रखण्डों का है. जहां पैक्सों के द्वारा जगह के अभाव मे नाम मात्र ही धान की खरीद की गई. सहकारी समितियों द्वारा धान खरीद नहीं किए जाने से किसान निजी दुकानदारों को लागत से भी कम किमत मे धान बेच रहे हैं.

वहीं, सरकारी आकड़ों में गोपालगंज सहकारिता विभाग द्वारा जिले में 60800 मीट्रीक टन धान खरीद का लक्ष्य निर्धारित किया गया है, जिसके विरुद्ध अब तक मात्र 22440 मिट्रीक टन ही धान खरीदा जा सका. अकेले गोपालगंज जिले का यह आंकडा साबित करता है कि सरकारी दावे चाहे जो भी हों, लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही है.

आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर