Home /News /bihar /

young man was married just 8 days ago in gopalganj died in a road accident today nodaa

गोपालगंज : महज 8 रोज पहले हुई थी युवक की शादी, सड़क दुर्घटना में आज हो गई मौत

महज 8 दिन पहले हुई थी मनोहर महतो (बाएं) की शादी.

महज 8 दिन पहले हुई थी मनोहर महतो (बाएं) की शादी.

Road Accidents: देश में हर साल लगभग 1.5 लाख लोग रोड एक्सीडेंट में मारे जाते हैं, वहीं लगभग 4.5 लाख से ज्यादा लोग सड़क पर हादसे का शिकार हो जाते हैं. इंटरनेशनल रोड फेडरेशन के वर्ल्ड रोड स्टैटिस्टिक्स (डब्ल्यूआरएस) 2018 के ताजा आंकड़ों के मुताबिक सड़क हादसों में मारे जाने वाले लोगों की संख्या के मामले में भारत पहले नंबर पर है.

अधिक पढ़ें ...

गोपालगंज. गोपालगंज में गुरुवार को अलग-अलग सड़क हादसों में कुल 3 युवकों की मौत हो गई. इन हादसे में जान गंवाने वाला एक युवक ऐसा भी है जिसकी शादी महज 8 दिन पहले हुई थी. सड़क हादसे में जान गंवाने वाले बाकी 2 लोग शादी-समारोह में शामिल होकर घर लौट रहे थे. पुलिस ने सड़क हादसे के बाद तीनों शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम कराया और फिर लाशें परिजनों को सौंप दीं.

पहला हादसा महम्मदपुर में हुआ. शादी समारोह से लौटते वक्त ट्रक और बाइक की भिड़ंत हुई और मनोहर महतो नाम के शख्स की मौत हो गई. वह बैकुंठपुर थाने के मठिया गांव के रहनेवाले बुटाई महतो का बेटा था. मनोहर महतो की शादी इसी महीने 4 मई को खैरा आजम गांव की ललिता कुमारी से हुई थी. मनोहर अपने चार भाइयों में सबसे बड़ा था. पत्नी ललिता के हाथों की मेहंदी अभी फीकी भी नहीं पड़ी थी कि उसकी मांग का सिंदूर उजड़ गया. इस मौत की खबर जिसने भी सुनी, आंखें नम हो गईं. ललिता अपने पति के शव से लिपटकर बार-बार विलाप कर रही थी. स्थानीय लोग ललिता और उसके सास-ससुर को सांत्वना दिए जा रहे थे. दूसरी दुर्घटना भी महम्मदपुर में हुई. इस हादसे में रामचंद्रपुर के रहनेवाले संतु कुमार की मौत हो गई, जबकि दो युवक घायल हो गए. बाइक सवार तीनों युवक बारात से लौट रहे थे. वहीं सिधवलिया थाना क्षेत्र के सकला गांव के पास अज्ञात वाहन की चपेट में आने से संतोष कुमार की मौत हो गई.

बीमारी से ज्यादा सड़क हादसों से मौत

बता दें कि देशभर में किसी भी बीमारी से इतने लोगों की मौत नहीं होती, जितनी सड़क दुर्घटनाओं में होती है. देश में हर साल लगभग 1.5 लाख लोग रोड एक्सीडेंट में मारे जाते हैं, वहीं लगभग 4.5 लाख से ज्यादा लोग सड़क पर हादसे का शिकार हो जाते हैं. सड़क हादसे में मरने वाले की संख्या को लेकर केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने 2025 तक सड़क दुर्घटनाओं से होने वाली मौतों में 50 फीसदी की कमी का लक्ष्य रखा है. नितिन गडकरी ने सड़क हादसों पर हाल ही में राज्यसभा में चिंता जताई थी. इंटरनेशनल रोड फेडरेशन के वर्ल्ड रोड स्टैटिस्टिक्स (डब्ल्यूआरएस) 2018 के ताजा आंकड़ों के आधार पर उन्होंने बताया था कि सड़क हादसों में मारे जाने वाले लोगों की संख्या के मामले में भारत पहले नंबर पर है. सड़क हादसों में घायल हुए लोगों के मामले में भी भारत तीसरे स्थान पर है.

Tags: Gopalganj news, Postmortem, Road Accidents

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर