बेगूसरायः बछवारा सीट CPI के हिस्से में गई तो कांग्रेस नेता का बेटा हुआ 'बागी', निर्दलीय चुनाव लड़ने का ऐलान

महागठबंधन से टिकट नहीं मिलने पर निर्दलीय चुनाव लड़ने की घोषणा करता पूर्व विधायक का बेटा.
महागठबंधन से टिकट नहीं मिलने पर निर्दलीय चुनाव लड़ने की घोषणा करता पूर्व विधायक का बेटा.

Bihar Assembly Election: बेगूसराय (Begusarai) जिले की बछवारा विधानसभा सीट पर कांग्रेस के दिवंगत विधायक के बेटे ने ठोका दावा. सीपीआई के खाते में सीट के जाने और महागठबंधन (Grand Alliance) की तरफ से टिकट न मिलने पर निर्दलीय चुनाव लड़ने का ऐलान किया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 8, 2020, 5:50 PM IST
  • Share this:
बेगूसराय. बिहार विधानसभा चुनाव की सरगर्मियों के बीच 'लेनिनग्राद' माने जाने वाले बेगूसराय (Begusarai) जिले के बछवारा विधानसभा सीट पर महागठबंधन (Grand Alliance) में दरार दिखने लगी है. हागठबंधन के घटक दलों के बीच सीट बंटवारे में बछवारा सीपीआई (CPI) के खाते में गई है, जबकि यहां से पहले कांग्रेस (Congress) के विधायक थे. यहां के विधायक रामदेव राय का निधन हो गया था. लेकिन पिता की जगह टिकट न मिलने से नाराज दिवंगत रामदेव राय के पुत्र 26 वर्षीय शिव प्रकाश गरीब दास ने यहां से निर्दलीय चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया है.

आज पटना से बेगूसराय पहुंचने पर बछवारा सीमा से लेकर उनके घर तक सैकड़ों कार्यकर्ताओं के साथ भव्य जुलूस निकाला गया. हालांकि इस दौरान जुलूस में शामिल सैकड़ों लोग ना तो सोशल डिस्टेंस का पालन कर रहे थे और ना ही मास्क लगाया था. इतना ही नहीं सभी बाइक सवार बिना हेलमेट के इस जुलूस में शामिल हुए, जिस पर सवाल भी उठ रहे हैं.

पूर्व विधायक रामदेव राय के पुत्र गरीब दास ने कहा कि बछवाड़ा कांग्रेस की परंपरागत सीट रही है. यहां पर उनके पिता कई बार विधायक रह चुके हैं. उनके पिता ने यहां की जनता की सेवा की है. शिव प्रकाश ने बताया कि उन्हें बरगला कर रखा गया कि बछवाड़ा सीट से उनको चुनाव लड़ने के लिए टिकट मिलेगा, लेकिन बाद में किसी और को टिकट दे दिया गया.



बड़ी खबर: रामा सिंह की RJD में एंट्री के बाद नीतीश का बड़ा दांव, रघुवंश प्र. सिंह के बेटे सत्य प्रकाश JDU में शामिल
गरीबदास ने पिता के द्वारा किए गए कार्यों का हवाला देते हुए कहा कि हमने बछवारा विधानसभा में आईटीआई कॉलेज के लिए 4 एकड़ जमीन दान में दी है. उनके पिता स्कूल कॉलेज के लिए हमेशा जमीन दान में देते रहे हैं. उन्होंने कहा कि मैंने पिता के साथ बछवारा विधानसभा के विकास के लिए काम किया है. बाढ़ का समय हो या कोरोना का हर क्षण काम किया है. ऐसे में वह बछवाड़ा की जनता की मांग पर चुनाव मैदान में जाएंगे.

शिव प्रकाश के बछवारा आगमन पर सैकड़ों की संख्या में कार्यकर्ताओं ने उनका स्वागत किया. इस मौके पर नेशनल हाइवे से लेकर उनके घर लोगों की भीड़ लगी रही.  राजनीतिक जानकार मानते हैं कि इनके निर्दलीय चुनाव लड़ने से महागठबंधन में असर पड़ सकता है. हालांकि इस जुलूस में आचार संहिता के उल्लंघन के लिए बछवारा थाने में शिव प्रकाश गरीबदास सहित 16 लोगों पर मामला दर्ज कराया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज