Home /News /bihar /

बिहार में अब भ्रष्ट अधिकारियों की खैर नहीं! शराब माफियाओं से सांठगांठ करने वाले अफसरों के खिलाफ जांच हुई तेज

बिहार में अब भ्रष्ट अधिकारियों की खैर नहीं! शराब माफियाओं से सांठगांठ करने वाले अफसरों के खिलाफ जांच हुई तेज

बिहार में थानेदार भी भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई करने वाली एजेंसियों के रडार पर आ गए हैं.

बिहार में थानेदार भी भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई करने वाली एजेंसियों के रडार पर आ गए हैं.

Bihar News: बिहार में बालू के बाद और शराब माफियाओं से सांठगांठ कर अकूत संपत्ति अर्जित करने वाले भ्रष्ट अफसरों पर जांच एजेंसियों की निगाहें हैं. इस क्रम में आर्थिक अपराध इकाई ने वैशाली के लालगंज थानेदार चंद्र भूषण शुक्ला के ठिकानों पर छापेमारी की. चन्द्रभूषण शुक्ला पर आरोप है कि उन्होंने शराब माफियाओं से सांठगांठ कर अकूत संपत्ति अर्जित की है. आर्थिक अपराध इकाई ने अपने ही थाना में उनके खिलाफ कांड संख्या 27 / 20 21 के तहत 30 नवंबर को केस दर्ज किया है. चंद्र भूषण के खिलाफ आईपीसी की धारा 13 {2} सह गठित धारा 13 {1}{b} भ्रष्टाचार निरोध अधिनियम 1988 यथा संशोधित 2018 के के तहत केस दर्ज किया गया है.

अधिक पढ़ें ...

पटना- बिहार  (Bihar) में शराब पर प्रतिबंध है लेकिन पिछले कुछ समय में इससे जुड़े कई मामले समाने आए हैं. वहीं विपक्ष के कई नेता राज्य के अफसर और नीतीश सरकार को घेर चुके हैं. ऐसे में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) एक्शन मोड में आ गए हैं और इसके खिलाफ सख्त कदम उठा रहे हैं. बिहार में बालू के बाद अब शराब माफियाओं से सांठगांठ कर संपत्ति अर्जित करने वाले भ्रष्ट अफसरों  (Corrupt officers) पर जांच की तलवार लटक गई है. इसी क्रम में आर्थिक अपराध इकाई ने वैशाली के लालगंज थानेदार चंद्र भूषण शुक्ला के ठिकानों पर छापेमारी की. उनपर  शराब माफियाओं के बल पर अकूत संपत्ति अर्जित करने का आरोप है.

बिहार में थानेदार भी भ्रष्टाचार  (Corruption) के खिलाफ कार्रवाई करने वाली एजेंसियों के रडार पर आ गए हैं. इन सब पर शराब माफियाओं से सांठगांठ कर अकूत संपत्ति अर्जित करने का आरोप है. इसी कड़ी में आर्थिक अपराध इकाई ने आज वैशाली जिले के लालगंज थानाध्यक्ष चंद्र  भूषण शुक्ला के ठिकानों पर छापेमारी की है. चंद्र भूषण शुक्ला के छपरा शहर स्थित आवास के अलावा सिवान के रघुनाथपुर स्थित पैतृक आवास और लालगंज जहां वह पोस्टेड है वहां पर छापेमारी की जा रही है.

चन्द्रभूषण शुक्ला पर आरोप है कि उन्होंने शराब माफियाओं से सांठगांठ कर अकूत संपत्ति अर्जित की है. आर्थिक अपराध इकाई ने अपने ही थाना में उनके खिलाफ कांड संख्या 27 / 20 21 के तहत 30 नवंबर को केस दर्ज किया है. चन्द्रभूषण के खिलाफ आईपीसी की धारा 13{ 2 } सह गठित धारा 13{ 1}{b} भ्रष्टाचार निरोध अधिनियम 1988 यथा संशोधित 2018 के के तहत केस दर्ज किया गया है.

निगरानी न्यायालय मुजफ्फरपुर से सर्च वारंट मिलने के बाद बुधवार को छापेमारी की गई. इस कार्रवाई के माध्यम से सरकार ने यह संदेश दे दिया है कि अगर आप सरकारी मुलाजिम रहते शराब माफियाओं से आप का किसी भी तरह का संबंध बना रहे तो आप सीधे तौर पर न केवल निलंबित किए जाएंगे, बल्कि आपकी संपत्ति को भी जांच के दायरे में लाया जाएगा.

आर्थिक अपराध इकाई के एडीजी नैयर हसनैन खान के निर्देश पर फिलहाल छापेमारी में लालगंज के थानेदार के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति मिलने की पुष्टि हुई है. छापेमारी जैसे-जैसे आगे बढ़ेगी वैसे-वैसे उनके खिलाफ सबूत भी निकलकर सामने आएगी.

हाल के दिनों में आर्थिक अपराध इकाई निगरानी और स्पेशल बिजनेस यूनिट इन तीनों एजेंसियों ने भ्रष्ट तरीके से अकूत संपत्ति अर्जित करने वाले बिहार के सरकारी मुलाजिमों के खिलाफ जिस तरीके से एक्शन लिया है वैसे में भ्रष्ट अफसरों में हड़कंप मचा हुआ है.

Tags: Bihar Liquor Smuggling, Bihar News in hindi, Corruption

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर