बिहार: बैंक के कर्मचारी ने ही लीक किया था मैट्रिक परीक्षा का प्रश्न पत्र, 3 गिरफ्तार

बिहार के जमुई का आदर्श थाना जहां आरोपियों की गिरफ्तारी हुई

बिहार के जमुई का आदर्श थाना जहां आरोपियों की गिरफ्तारी हुई

Bihar Matric Exam Paper leak: बिहार में मैट्रिक की परीक्षा का पेपर वायरल होने के बाद हड़कंप मच गया था. इस मामले में जब परीक्षा में आये प्रश्नों से मिलान किया गया तो प्रश्न पत्र सही पाये गए.

  • Share this:
जमुई. बिहार में परीक्षा से पहले ही लीक हुए मैट्रिक (Bihar Matric Exam 2021) के प्रश्न पत्र के मामले में जमुई में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI), जमुई शाखा के तीन अधिकारी और एक कर्मी समेत चार लोगों को अभियुक्त बनाया गया है. जिला शिक्षा पदाधिकारी के आवेदन पर नगर थाना में इन सभी के खिलाफ केस दर्ज कराया गया है. प्राथमिकी दर्ज करने के बाद पुलिस आगे की कार्रवाई में जुट गई है. जिन लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है उनमें कैशियर शशिकांत चौधरी, अकाउंटेंट अजीत कुमार, डिप्टी ब्रांच मैनेजर अमित कुमार के अलावा निजी एजेंसी का एक कर्मी विकास कुमार का नाम शामिल है.

प्रश्न पत्र लीक मामले में जमुई जिला शिक्षा पदाधिकारी रवि कुमार सिंह ने नगर थाना में आवेदन दिया था. दर्ज कांड में IPC की धारा 420/409/ 379/ 120B के अलावा आईटी सेक्शन लगाया गया है. कांड का अनुसन्धान करने की जिम्मेदारी सब इंस्पेक्टर रंजीत रंजन को दी गई है. इससे पहले शुक्रवार को प्रश्न पत्र लीक होने के मामले की जांच के दौरान तीन लोगों को हिरासत में लिया गया था. केस दर्ज होने के बाद हिरासत में लिए गए कर्मी विकास कुमार, अकाउंटेंट अजीत कुमार और कैशियर शशिकांत चौधरी की हिरासत की बात गिरफ्तारी में बदल गई, जबकि डिप्टी ब्रांच मैनेजर अमित कुमार अभी पुलिस पकड़ से बाहर है.

जिस आवेदन पर केस दर्ज हुआ है उसमें यह बताया गया है कि शुक्रवार को प्रश्न पत्र लीक होने की घटना के दिन प्रश्न पत्र अधिकृत पदाधिकारी और कर्मी  मौके पर नहीं थे और सब कुछ एक निजी कंपनी के घोषित कर्मी विकास के भरोसे छोड़ दिया गया था, जिसने रिजर्व में रखे गए प्रश्न पत्र के बारे से पैकेट फाड़कर सामाजिक विज्ञान का प्रश्न पत्र वायरल कर दिया था. जानकारी के अनुसार बैंक में रखे गए प्रश्न पत्र के अधिकृत अधिकारी और कर्मी की लापरवाही के कारण विकास कुमार नाम के निजी एजेंसी का एक कर्मी जो बैंक में काम करता है उसने प्रश्न पत्र का फोटो खींचकर वायरल किया था. केस दर्ज होने के बाद गिरफ्तार लोगो को कोरोना जांच के बाद न्यायिक हिरासत में जेल भेजा गया है.

मालूम हो कि बिहार में मैट्रिक की परीक्षा का प्रश्न पत्र वायरल होने और इसके सही पाये जाने के बाद ये परीक्षा रद्द कर दी गई है और परीक्षा का आयोजन अब 8 मार्च को होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज