छत्तीसगढ़ के बीजापुर में नक्सली हमले के बाद बिहार के जंगली इलाकों में भी अलर्ट, सर्च अभियान तेज

छत्तीसगढ़ के बीजापुर में नक्सली हमले के बाद बिहार में भी पुलिस अलर्ट मोड में आ गई है.

छत्तीसगढ़ के बीजापुर में नक्सली हमले के बाद बिहार में भी पुलिस अलर्ट मोड में आ गई है.

छत्तीसगढ़ के बीजापुर में सुरक्षाबलों पर नक्सलियों के बड़े अटैक के बाद बिहार में अलर्ट कर दिया गया है. जमुई जिले के जंगली इलाकों में नक्सली दस्ते की आवाजाही के सूचना के बाद पुलिस ने पूरे जिले में सतर्कता बढ़ा दी गई है.

  • Last Updated: April 4, 2021, 4:26 PM IST
  • Share this:
जमुई. छत्तीसगढ़ के बीजापुर में सुरक्षाबलों पर नक्सलियों के हमले (Naxalite attack in Bijapur of Chhattisgarh) की घटना के बाद जमुई जिला पुलिस भी अलर्ट मोड पर आ चुकी है. जमुई जिले के जंगली इलाकों के कई गांव में नक्सली दस्ते की आवाजाही के सूचना के बाद पुलिस ने पूरे जिले में सतर्कता बढ़ा दी गई है. सभी थाना क्षेत्र के जंगलों में सर्च अभियान तेज कर दिया गया है, साथ ही थानाध्यक्षों को निर्देश दिया गया है कि नक्सल गतिविधि पर पूरी नजर रखते हुए उचित कार्रवाई की जाए.

नक्सल प्रभावित इलाके  (Naxalite affected areas) में गतिविधि तेज कर नक्सलियों के मंसूबे पर पानी फेरने के लिए जिला पुलिस बल को निर्देश दिया गया है. आज यानि रविवार को छत्तीसगढ़ के बीजापुर में सुरक्षाबलों पर नक्सलियों द्वारा हमला में कई जवान के शहीद और उनके घायल होने के बाद जमुई जिला के नक्सल इलाकों के जंगल में भी अलर्ट घोषित कर दिया गया है. खासकर झारखंड के गिरिडीह जिला से सटे चकाई और खैरा इलाके में पुलिस गस्ती तेज कर दी गई है खैरा थाना क्षेत्र के गिद्धेश्वर जंगल में भी सुरक्षा बलों और पुलिस के द्वारा लगातार सर्च अभियान चलाया जा रहा है.

वही मुंगेर और लखीसराय सीमा से सटे बरहट और लक्ष्मीपुर के जंगल में भी नक्सली गतिविधि पर लगाम लगाने के लिए सुरक्षाबलों को गस्ती करने का निर्देश दिया गया है. रविवार को खैरा थाना इलाके के जंगलों में और पहाड़ों पर पुलिस की गश्ती होते साफ दिखी जहां हर आने जाने वाले लोगों से पूछताछ की गई और वाहन चेकिंग हुआ.

मुंगेर और लखीसराय इलाके में होती हैं नक्सली गतिविधियां 
अचानक सुरक्षा बलों की चौकसी बढ़ाने और जिले के जंगल और पहाड़ी इलाके में पुलिस की गश्ती तेज होने के मामले में जिले के एएसपी अभियान सुधांशु कुमार ने बताया कि छत्तीसगढ़ की घटना के बाद पुलिस को अलर्ट किया गया है, वैसे जिले के उन इलाकों में जहां नक्सली की गतिविधि रहती है खासकर झारखंड के सीमा क्षेत्र और मुंगेर और लखीसराय के सीमा इलाकों में हमेशा रहती है. जहां नक्सलियों पर कार्रवाई के लिए के लिए सर्च अभियान लगातार चलते रहता है.

जमुई एसपी प्रमोद कुमार मंडल ने बताया कि नक्सली के गतिविधि की सूचना के बाद सर्च अभियान और तेज कर दिया जाता है. हालांकि नक्सल इलाके में पुलिस की गस्ती हर दिन और हमेशा रहती है. नक्सल मामले पर रोक लगाने के लिए जिले के पुलिस बल काम कर रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज