बिहार में एक और पकड़ौआ विवाह, पुलिस के पहुंचने से पहले मंडप में पूरे हो चुके थे 7 फेरे

बिहार के शेखपुरा में हुई शादी की तारीख 24 मई तय थी. (सांकेतिक फोटो)

Jamui News: बिहार में पकड़ौआ विवाह का यह मामला 24 मई का है. पुलिस ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए युवक को बरामद कर लिया है. अब युवक के परिजन इस रिश्‍ते को स्‍वीकार नहीं कर रहे हैं.

  • Share this:
जमुई. बिहार में एक बार फिर से पकड़ौआ यानी जबरन विवाह करने का मामला सामने आया है. जमुई जिले के सदर अनुमंडल के खैरा थाना इलाके के दाबिल गांव के एक युवक का अपहरण करने के बाद उसका विवाह कर दिया गया. 21 साल के युवक अमित कुमार के परिजनों की शिकायत के बाद खैरा पुलिस ने छापेमारी करते हुए युवक को शेखपुरा जिले के चेवाड़ा थाना के एकहरा गांव के एक घर से बरामद किया. हालांकि, पुलिस के पहुंचने के पहले ही युवक की शादी करवा दी गई थी.

फिलहाल युवक किसी और घटना के डर से अपने रिश्तेदार के यहां रह रहा है, जबकि उसके परिवार वाले परेशान हैं. युवक और उसके परिवार वाले उस लड़की को रखने को तैयार नहीं हैं, जिससे जबरन शादी करवा दी गई. पकड़ौओ विवाह का यह मामला बीते 24 मई का है, जब युवक अमित कुमार सिंह को उसके ही गांव दाबिल के एक युवक ने बहला-फुसला कर पड़ोस के गांव में ले जाने के लिए तैयार किया. आरोपी युवक अमित को स्‍कॉर्पियो में बैठाकर शेखपुरा जिले के एकहरा गांव ले गया था.



पुलिस के पहुंचने से पहले हो चुके थे फेरे
बाद में जब अमित के पिता किशोरी सिंह को इस बारे में जानकारी मिली कि उनके बेटे को शादी करवाने के लिए लेकर लोग चले गए तो उन्होंने पुलिस से जाकर गुहार लगाई. खैरा पुलिस शेखपुरा जिले के चेवाड़ा थाना के एकहरा गांव के अनिल सिंह के घर पहुंची और वहां से युवक को बरामद किया. पुलिस के पहुंचने से पहले युवक की जबरन शादी करवा दी गई थी. पुलिस ने बरामद युवक को परिजनों को सौंप दिया है, लेकिन अब युवक किसी और घटना के डर से अपने रिश्तेदार के यहां चला गया है.

लड़के के घरवाले को रिश्ता स्‍वीकार नहीं
अमित ने आरोप लगाया है कि गांव के एक लड़के की मिलीभगत से उसका अपहरण कर जबरन शादी करवा दी गई. इधर युवक और उसके परिजन जबरन विवाह को नहीं मान रहे हैं. जानकारी के अनुसार, अमित की शादी उसी लड़की से तय हुई थी, लेकिन किसी बात को लेकर लड़का पक्ष के घर वालों ने शादी से इनकार कर दिया था.

तय होने के बाद कटी थी शादी
इस मामले में खैरा थानाध्यक्ष सिद्धेश्वर पासवान ने बताया कि युवक की शादी उस लड़की से तय हो चुकी थी, लेकिन कुछ कारण से लड़के के घर वालो ने शादी से इनकार कर दिया था. इसको लेकर लड़की वालों ने युवक को बहला-फुसलाकर अपने घर लाया और फिर उसकी शादी करवा दी. युवक के परिवार वालों की शिकायत के बाद उसे बरामद कर परिवार वालों को सौंप दिया गया है.