लाइव टीवी
Elec-widget

चचेरे भाई ने सुपारी देकर कराई थी कपड़ा व्यापारी की हत्या, ये था कारण

KC Kundan | News18 Bihar
Updated: November 20, 2019, 5:46 PM IST
चचेरे भाई ने सुपारी देकर कराई थी कपड़ा व्यापारी की हत्या, ये था कारण
जमुई पुलिस ने कपड़ा व्यापारी के हत्यारों को गिरफ्तार कर लिया है

नवीनगर गांव के कपड़ा व्यवसायी मुरारी साव हत्याकांड (Murari Sao murder) का खुलासा जमुई पुलिस ने कर दिया है. मुरारी की हत्या उसके चचेरे भाई ने ही 5 लाख की फिरौती देकर करवाई थी.

  • Share this:
जमुई. मुरारी साव उर्फ टुनटुन साव की हत्या बीते 5 नवंबर की रात की गई थी, जिसका शव नगर थाना के सतायन हाई स्कूल के पास से सड़क के किनारे बरामद हुआ था. जमुई पुलिस ने वारदात के 15 दिन बाद नवीनगर गांव के कपड़ा व्यवसायी (Cloth Merchant) मुरारी साव की हत्या के मामले का पर्दाफाश कर दिया है. पुलिस (Police) ने हत्या के आरोप में चार लोगों को गिरफ्तार (arrest) किया है. गिरफ्तार लोगों में मृतक टुनटुन साव का चचेरा भाई बजरंगी साव भी शामिल है. इसके अलावा नगर थाना इलाके के काकन गांव के तीन और अपराधी कुख्यात नीरज कुमार, सूरज कुमार और जितेंद्र कुमार को भी गिरफ्तार किया गया है. गला रेतकर जिस हथियार (murder waepon) से हत्या की गई थी, उसे भी पुलिस ने बरामद कर लिया है.

ऐसे हुई थी वारदात
मृतक कपड़ा व्यवसायी बीते 5 नवंबर की शाम अपने बहन के घर जाने के लिए बाइक से निकला था. जिस दौरान देर शाम लगभग 7.30 बजे अपराधियों ने कपड़ा व्यवसायी टुनटुन साव की गला रेंतकर हत्या कर दी थी. अगले दिन 6 नवंबर की सुबह जमुई लखीसराय सड़क मार्ग पर सतायन हाई स्कूल के पास कपड़ा व्यवसाय का शव बरामद हुआ था. घटना के बाद परिजनों ने अपराधियों की गिरफ्तारी की मांग पुलिस से की थी. लगातार छानबीन के बाद पुलिस ने मृतक व्यवसायी के चचेरे भाई बजरंगी साव और उसके तीन साथियों को गिरफ्तार कर लिया है. काफी जांच पड़ताल और छानबीन के बाद जमुई नगर पुलिस और एसआईटी की टीम को ये सफलता मिली है.

हत्या का कारण

छानबीन में यह बातें सामने आई है कि हत्या का कारण मृतक टुनटुन साव को मुआवजे के रूप में 5 लाख की राशि देना था. दरअसल हत्या के लगभग 6 महीने पहले नवीनगर के व्यवसायी मुरारी साव के कपड़े के दुकान में आग लग गई थी, जिससे उसे लाखों की क्षति हुई थी, जिसके बाद कपड़ा दुकानदार मृतक ने बजरंगी साव पर ही दुकान में आग लगाने का आरोप लगाया था. गांव की पंचायत ने छानबीन करते हुए और सीसीटीवी देखने के बाद आरोप को सत्य पाया था. फिर पंचायत ने बजरंगी साव को मुआवज़े के रूप में पीड़ित दुकानदार को 5 लाख रुपये देने का निर्णय सुनाया था. जिसके बाद बजरंगी साव ने मृतक मुरारी साव को 5 लाख रुपये मुआवजे के रूप में दिये थे. पुलिस के अनुसार, उसी का बदला लेने के लिए आरोपी बजरंगी साव ने सुपारी देकर उसकी हत्या करवा दी.

(रिपोर्ट- के सी कुंदन)

ये भी पढ़ें -
Loading...

JNU छात्र आंदोलन पर बोले सुशील मोदी- कैंपस में बीफ पार्टी करने वाले शहरी नक्सली

मिसाल: 100 साल की उम्र में भी कर रहे वकालत, जिरह ऐसी की विरोधियों के छूटते हैं पसीने

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जमुई से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 20, 2019, 5:33 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com