ये कैसी भक्ति! कोरोना को लेकर मंदिर का गेट था बंद, लोगों ने दीवार फांदकर किया जलाभिषेक
Jamui News in Hindi

ये कैसी भक्ति! कोरोना को लेकर मंदिर का गेट था बंद, लोगों ने दीवार फांदकर किया जलाभिषेक
जमुई के प्रसिद्ध गिद्धेश्वरनाथ धाम में सोमवार को ये नजारा देखने को मिला

जमुई जिले के ऐतिहासिक गिद्धेश्वरनाथ धाम (Giddheshwar Nath Temple) में प्रशासन की रोक के बावजूद सावन (Sawan) के पहले सोमवार पर सैंकड़ों लोगों ने जलाभिषेक किया.

  • Share this:
जमुई. कोरोना संक्रमण (Corona Infection) को देखते हुए इस साल सावन (Sawan) में भी मंदिरों को बंद रखने का फैसला लिया गया है. शिव मंदिरों में भीड़ न जुटे, इसलिए पूजा अर्चना और जलाभिषेक पर प्रशासन ने रोक लगा दी है. लेकिन जमुई में इस रोक के बावजूद लोग (Devotees) मंदिर की दीवार फांदकर शिवलिंग पर जलाभिषेक करते देखे गये. जिले के प्रसिद्ध गिद्धेश्वर नाथ मंदिर (Giddheshwar Nath Temple) में सावन की पहली सोमवारी पर भक्तों ने दीवार फांदकर मंदिर में पूजा-पाठ और जलार्पण किया.

जमुई जिला प्रशासन ने कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए सावन में शिवालयों को बंद रखने का आदेश दिया है. साथ ही श्रद्धालुओं को घर में ही भगवान शिव की पूजा अर्चना करने का आग्रह किया है, लेकिन सावन के पहले ही दिन लोग प्रशासन की इस अपील को नजरअंदाज करते देखे गये.

रोक के बावजूद सैकड़ों लोग जुटे 



जिले के खैरा प्रखंड स्थित ऐतिहासिक गिद्धेश्वरनाथ धाम में प्रशासन की रोक के बावजूद लोगों ने जलाभिषेक किया. कोरोना के खतरे की अनदेखी करते हुए सैकड़ों की संख्या में लोग सावन की पहली सोमवारी पर मंदिर पहुंचे. और पूजा-अर्चना की. चूंकि मंदिर कमेटी ने मंदिर के मेन गेट में ताला बंद कर रखा था. इस कारण सैकड़ों लोग मेन गेट पर ही फूल माला चढ़ाकर और जलाभिषेक कर लौट गये. लेकिन कई लोग दीवार फांदकर मंदिर में घुस गये, इनमें बच्चे, बूढ़े, पुरुष और महिलाएं सभी शामिल थे, मंदिर में बाबा भोले पर जलार्पण किया. फिर उसी तरह दीवार फांदकर घर लौटे. इस दौरान मंदिर कमेटी के सदस्य लोगों से ऐसा नहीं करने का आग्रह करते रहे, लेकिन कोई मानने को तैयार नहीं था.
मंदिर में नहीं थी पुलिस की तैनाती 

बता दें कि जमुई के डीएम धर्मेंद्र कुमार ने जिले के सभी शिवालयों में दंडाधिकारी और पुलिस बल की तैनाती का निर्देश दिया था. बैरिकेडिंग करने के लिए भी कहा गया था. लेकिन गिद्धेश्वरनाथ मंदिर में सोमवार को ना तो कोई सुरक्षा थी और ना ही बैरिकेडिंग की गई थी.

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading