• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • बिहार: परीक्षा दी इतिहास विषय की, विश्‍वविद्यालय ने मनोविज्ञान में कर दिया पास

बिहार: परीक्षा दी इतिहास विषय की, विश्‍वविद्यालय ने मनोविज्ञान में कर दिया पास

मुंगेर विश्वविद्यालय के रिजल्ट में हुई गड़बड़ी के शिकार छात्र का पंजीयन रसीद.

मुंगेर विश्वविद्यालय के रिजल्ट में हुई गड़बड़ी के शिकार छात्र का पंजीयन रसीद.

मुंगेर विश्वविद्यालय (Munger University) में पढ़ाई करने वाला छात्र जुलाई 2019 में रिजल्ट आने के बाद से ही परेशान है.

  • Share this:
जमुई. बिहार के मुंगेर विश्वविद्यालय (Munger University) की रिजल्ट में गड़बड़ी का एक अनोखा मामला सामने आया है. यहां बीए पार्ट वन की परीक्षा के दौरान छात्र ने जिस विषय की परीक्षा ही नहीं दी उसे उस विषय में अंक दिया गया. साथ ही छात्र ने विषय में पढ़ाई ही नहीं की उसके प्रैक्टिकल में अनुपस्थित दिखा कर उसे प्रमोट कर दिया गया. इस स्थिति में छात्र को समझ में नहीं आ रहा है कि वह पार्ट टू की परीक्षा फार्म में कौन सा विषय भरे. परीक्षा फार्म भरने की तिथि भी अब खत्म होने वाली है.

परीक्षा इतिहास का रिजल्ट मनोविज्ञान में
जमुई शहर के पुरानी बाजार मोहल्ले का छात्र शीर्षक कुमार केकेएम कालेज के छात्र हैं. उन्‍होंने साल 2019 में आयोजित बीए पार्ट वन की परीक्षा में इतिहास विषय की परीक्षा दी थी, लेकिन उन्‍हें मनोविज्ञान विषय पास कर दिया गया. यही नहीं प्रैक्टिकल में शीर्षक कुमार को अनुपस्थित बताया गया है. अब उनका रिजल्ट तो प्रमोटेड है, लेकिन उन्‍हें पार्ट वन की भी परीक्षा देनी होगी. परिणाम में सुधार के लिए वह छह महीने से चक्कर लगा रहे हैं, लेकिन मुंगेर विश्वविद्यालय प्रशासन के कान पर जूं तक नहीं रेंग रहा है.

छह महीने से चक्‍कर लगा रहा छात्र
परेशान छात्र शीर्षक कुमार का कहना है कि उन्‍होंने पार्ट वन में सहायक विषय के रूप में इतिहास विषय में परीक्षा दी थी, लेकिन रिजल्ट में मनोविज्ञान विषय में अंक दिया गया. शीर्षक कुमार ने बताया, 'मुझे प्रैक्टिकल में अनुपस्थित बताकर रिजल्ट प्रमोटेड बताया गया है. जब मैंने मनोविज्ञान विषय की परीक्षा ही नहीं दी तो उसका अंक क्यों मिला? जुलाई 2019 में रिजल्ट आने के बाद से ही मैं परेशान हूं. मैंने कई बार केकेएम कॉलेज और मुंगेर का चक्कर लगाया, लेकिन कुछ नहींं हुआ.'

प्रधानाचार्य बोले
इस मामले में केकेएम कॉलेज के प्रभारी प्राचार्य डॉ सुनील कुमार यादव ने बताया कि रिजल्ट में गड़बड़ी की शिकायत के बाद विश्विद्यालय को पत्र भेजा जाता है, ताकि सुधार हो जाए. इस मामले को गंभीरता से लिया जाएगा और परीक्षा फॉर्म भरने की तिथि को लेकर भी उपाय होगा. बहरहाल, भागलपुर विश्वविद्यालय से अलग होकर बने मुंगेर विश्वविद्यालय से उम्मीद थी कि छात्रों के रिजल्ट को लेकर कोई गड़बड़ी नहीं होगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ.

ये भी पढ़ें- पटना के पार्कों में मॉर्निंग वॉक के लिए देने होंगे पैसे

ये भी पढ़ें- हड़ताल ने बढ़ाई सरकार की परेशानी, शिक्षकों के समर्थन में उतरे कई मुखिया

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज