मुंगेर में नक्सलियों से एनकाउंटर के बाद हैंड ग्रेनेड समेत असलहे बरामद, बिहार चुनाव में खलल डालने की थी तैयारी

मुंगेर में नक्सलियों से मुठभेड़ के बाद बरामद सामान के साथ सुरक्षाबल के जवान
मुंगेर में नक्सलियों से मुठभेड़ के बाद बरामद सामान के साथ सुरक्षाबल के जवान

मुंगेर रेंज के डीआईजी मनु महाराज के मुताबिक सीआरपीएफ कोबरा 207 बटालियन द्वारा घने जंगलों में सर्च अभियान चलाया जा रहा था इसी दौरान नक्सलियों ने फायरिंग शुरू कर दी और फिर दोनों तरफ से सैकड़ो राउंड गोली चली.

  • Share this:
जमुई. मुंगेर सीमा पर पैसरा जंगल में अर्ध सैनिक बलों ने एक बड़ी कार्रवाई करते हुए विधानसभा चुनाव में खलल डालने की नक्सली की बड़ी योजना को नाकाम कर दिया है. तीन दिनों तक चलने वाले सर्च अभियान में जहां सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई वहीं नक्सलियों के ठिकाने से हथियार समेत कई सामान को भी बरामद किया गया है. बरामद सामान में दर्जनों पोस्टर बरामद हुए है जिसमे नक्सलियों ने विधान सभा चुनाव का बहिष्कार की बात लिखी है. मुठभेड़ स्थल से पिस्टल और एसएलआर के कारतूस भी बरामद किए गए हैं. घटना स्थल से सुरक्षाबलों को ऐसे भी दस्तावेज मिले हैं जिसमें अलग-अलग पहचान बताते हुए नक्सली नेता प्रवेश का फर्जी पहचान पत्र भी शामिल है.

बीते शनिवार से तीन दिनों तक चलने वाला मुंगेर जिले के पैसरा जंगल में पारा मिलिट्री फोर्सेस का नक्सलियों के खिलाफ सर्च अभियान सोमवार को समाप्त हुआ. इस दौरान रविवार को हुए मुठभेड़ के बाद बरामद हथियार और नक्सलियों का सामान को लेकर कोबरा 207 की टीम जमुई पहुंची. कोबरा 207 की टीम का जमुई पहुंचने के बाद देर शाम मुंगेर डीआईजी मनु महाराज ने भी जमुई पहुंचकर अधिकारियों के साथ बैठक की. मुंगेर जिले के पैसरा जंगल में हुए मुठभेड़ के बाद जो सामान बरामद हुए हैं उनमें दर्जनों पोस्टर और बैनर भी मिले हैं जिसमें नक्सलियों ने विधानसभा चुनाव बहिष्कार करने की बात कही है.

पुलिस अधिकारियों का कहना है कि नक्सली चुनाव के दौरान बड़े वारदात को अंजाम में जुटे थे. जमुई पहुंचे डीआईजी मनु महाराज ने भी बताया कि कोबरा 207 बटालियन के द्वारा घने जंगल में सर्च अभियान किया जा रहा था, जिस तरह नक्सलियों ने फायरिंग शुरू कर दी और फिर दोनों तरफ से सैकड़ो राउंड गोली चली जिसके बाद  घटनास्थल से जो सामान बरामद हुए हैं उससे स्पष्ट है कि नक्सली चुनाव में खलल डालने वाले थे, लेकिन सुरक्षाबलों की मुस्तैदी से नक्सलियों के मंसूबे को नष्ट कर दिया गया है.



डीआईजी मनु महाराज ने यह भी कहा कि चुनाव को लेकर सभी इलाके में सुरक्षाबलों द्वारा नक्सली गतिविधि पर नजर रखी जा रही है. मुठभेड़ वाले स्थल से नक्सलियों का कई सामान बरामद हुआ है जिसमें मेड इन अमेरिका लिखा पिस्टल और दर्जनों राउंड एसएलआर की गोलियां के साथ एक हैंड ग्रेनेड भी शामिल है. मौके से सुरक्षाबलों को ऐसे कई दस्तावेज भी मिले हैं जिसमें नक्सली नेता प्रवेश दा का अलग अलग पहचान पत्र है. बरामद दस्तावेज में जो परिचय पत्र बरामद हुआ है उसमें प्रवेश का नाम दुर्गा बास्की बताया गया है जोकि लखीसराय के पीढ़ी बाजार निवासी बताते हुए बना है, जबकि ड्राइविंग लाइसेंस में प्रवेश का नाम सूरज कुमार सिंह बताया गया है जिसमें उसका पता तारापुर मुंगेर है. सभी पहचान पत्र पर एक ही फोटो जिसे पुलिस प्रवेश दा बता रही है उसका अलग अलग नाम से पहचान पत्र मिलने से के मामले में पुलिस अधिकारी जांच में जुट गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज