हार्डकोर नक्सली संजय मरांडी गिरफ्तार, पुलिस को कई मामलों में थी तलाश

Jamui News: जमुई से गिरफ्तार किए गए नक्सली संजय मरांडी को पुलिस की सरगर्मी से तलाश थी. पुलिस फिलहाल गिरफ्तारी के बाद उससे पूछताछ कर रही है.

Jamui News: जमुई से गिरफ्तार किए गए नक्सली संजय मरांडी को पुलिस की सरगर्मी से तलाश थी. पुलिस फिलहाल गिरफ्तारी के बाद उससे पूछताछ कर रही है.

Jamui News: जमुई से गिरफ्तार किए गए नक्सली संजय मरांडी को पुलिस की सरगर्मी से तलाश थी. पुलिस फिलहाल गिरफ्तारी के बाद उससे पूछताछ कर रही है.

  • Share this:
जमुई. जिले के जंगल में सर्च अभियान (Naxal Search Operation) चलाकर सुरक्षा बल ने कई साल से फरार चल रहे हार्डकोर नक्सली (Hard Core Naxal) संजय मरांडी उर्फ बोदा मरांडी को गिरफ्तार कर लिया गया है. जमुई और झारखंड के कई जिलों में नक्सली वारदात को अंजाम देने वाले नक्सली संजय की तलाश पुलिस को कई साल से थी. सूचना के आधार पर जमुई एसपी के निर्देश से चलाए गए सर्च अभियान में पुलिस को यह सफलता चरका पत्थर थाना इलाके के तेतरिया जंगल में मिली है. फिलहाल गिरफ्तार नक्सली से पुलिस पूछताछ कर इलाके में सर्च अभियान चला रही है.

जमुई पुलिस और सुरक्षाबलों ने यह सफलता बुधवार की देर शाम पाई है जिसकी पुष्टि जिले के एसपी प्रमोद कुमार मंडल ने की है. एसपी के अनुसार नक्सल सेल को यह जानकारी मिली थी कि कई साल से फरार चल रहे नक्सल कांड के नामजद अभियुक्त संजय मरांडी एक बार फिर किसी वारदात को अंजाम देने की फिराक में है जिसके बाद अभियान एएसपी सुधांशु कुमार के नेतृत्व में सर्च अभियान चलाया गया और फिर चरकापत्थर के तेतरिया जंगल से नक्सली की गिरफ्तारी कर ली गई. गिरफ्तार नक्सली से पूछताछ करते हुए आगे की कार्रवाई शुरू कर दी गई है.

सर्च अभियान में जिला पुलिस के अलावा सीआरपीएफ, नक्सल सेल की टीम और कोबरा 207 के जवान शामिल थे. संजय मरांडी पर जमुई जिले के अलग-अलग थानों में कई मामले दर्ज हैं जिसमें चरकापत्थर थाना क्षेत्र के रजौन में नवंबर 2013 में घर से ले जाकर विनोद यादव नामक शख्स की हत्या का भी केस शामिल है. इसके अलावा 13 अगस्त 2018 को चंद्रमंडीह थाना इलाके के जंगल में मुखबिरी का आरोप लगाकर एक फेरीवाले की हत्या और फिर फेरीवाले के शव के नीचे प्रेशर बम लगाकर पुलिस को नुकसान पहुंचाने का मामला भी शामिल है. तब फेरीवाले की हत्या के बाद उसके शव के नीचे लगाया गए प्रेशर बम के विस्फोट से चंद्रमंडीह के तत्कालीन थानाध्यक्ष सहित 6 पुलिसकर्मी घायल हुए थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज