तब्लीगी जमात में शामिल हुए थे जमुई के 13 लोग, जानकारी मिलते ही उड़ी प्रशासन की नींद
Jamui News in Hindi

तब्लीगी जमात में शामिल हुए थे जमुई के 13 लोग, जानकारी मिलते ही उड़ी प्रशासन की नींद
तब्लीगी मरकज में शामिल होने गया जमुई का शख्स

झाझा एसडीपीओ भास्कर रंजन ने बताया कि जो 13 लोग मरकज (Tabligi Markaj) में शामिल हुए थे वो जमुई (Jamui) जिले के झाझा, सोनो और नगर थाना इलाके के ही रहने वाले हैं. सभी के बारे में जानकारी इकट्ठा की जा रही है.

  • Share this:
जमुई. दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात (Tabligi jamat) के मरकज यानी इस्लामिक धार्मिक आयोजन में जमुई जिले के भी कुल 13 लोग शामिल हुए थे. लॉकडाउन (Lockdown) के बाद भी दिल्ली में आयोजन और फिर कोराना (Corona) का संक्रमण फैलने से सभी लोग डरे हैं. मरकज में शामिल होने वाले लोगों की सूची जारी होने के बाद छानबीन करते हुए जिला प्रशासन ने सभी 13 लोगों की पहचान कर ली है जो कि जिले के अलग-अलग थाना इलाके के रहने वाले हैं.

सभी दिल्ली के आइसोलेशन सेंटर में

जब जिला प्रशासन को इस बात की जानकारी मिली कि यहां के लोग भी मरकज में शामिल हुए हैं तो परेशानी बढ़ गई. पहचान होने के बाद प्रशासन ने यह पता लगाया कि तब्लीगी जमात में शामिल होने वाले जमुई के सभी लोग कहां हैं, तो जिला प्रशासन ने राहत ली क्यों कि पता चला कि सभी लोग दिल्ली के आइसोलेशन केंद्र में मौजूद हैं.



बिहार के 86 लोग हुए थे शामिल



दरअसल निजामुद्दीन स्थित तब्लीगी जमात के मरकज के आयोजन केंद्र में कोरोना वायरस के संक्रमण की बात सामने आने के बाद लोगों की चिंता बढ़ गई है. दरअसल निजामुद्दीन में आयोजित मरकज मतलब इस्लामिक धार्मिक आयोजन में देश के राज्यो और विदेश के लोग शामिल हुए थे. कोरोना वायरस के संक्रमण की बात आने के बाद यह जानकारी मिली की बिहार के भी लगभग 86 लोग भी मरकज में शामिल हुए थे. मरकज कार्यक्रम में शामिल होने वाले लोगों के बीच कोरोना का संक्रमण की खबर के बाद जमुई जिला प्रशासन की भी परेशानी बढ़ गई.

सभी जमुई के विभिन्न इलाकों के

बुधवार की देर रात जब जिला प्रशासन को इस बात का पता चला कि जमुई के भी 13 लोग भी मरकज आयोजन में शामिल हुए हैं तो उनकी पहचान और वर्तमान में वह कहां है इसको लेकर जिला प्रशासन के साथ पुलिस की परेशान हो गई. झाझा एसडीपीओ भास्कर रंजन की टीम को बाद में पता चला कि जो 13 लोग मरकज में शामिल हुए थे. जमुई जिले के झाझा, सोनो और नगर थाना इलाके के ही रहने वाले हैं जिनका नाम है मो रिज़वान, मो समसुद्दीन, मो कमरुद्दीन, मो नसीरुद्दीन, गुलाम मुस्तफा, हाफिज अज़हर, मो सिराजुद्दीन, मो सूफिया, मो अताउद्दीन, मो फिरदौस, मो ओसामा, मो परवेज, मो जियाउद्दीन. इनमें से जिले के झाझा इलाके से 10, सोनो इलाके से 2 और नगर थाना इलाके के भगवाना गांव का एक शख्स शामिल है.

खोजबीन के लिए घर पहुंचा प्रशासन

फिर क्या शामिल होने वाले लोगों की पहचान होने के बाद जिला प्रशासन की टीम की टीम इन सभी के घर गई और फिर पता लगाया गया कि वे लोग अभी फिलहाल कहां है. परिजनों से यह जानकारी मिली कि सभी लोग अभी दिल्ली में ही है और आइसोलेशन वार्ड में हैं. इस मामले में डीएम धर्मेंद्र कुमार ने बताया कि देर रात जब जानकारी मिली की जमुई के लोग भी जमात के मरकज में शामिल हुए थे फिर एसपी डॉ इनामुल हक मेगनु के साथ जिला प्रशासन और पुलिस की टीम सभी लोगों की पहचान की. फिर उनके घर- घर जाकर उनके वर्तमान स्थान की मौजूदगी का लोकेशन लिया गया. वो दिल्ली के आइसोलेशन सेंटर में है कि नहीं इस बात का की पुष्टि के लिए आइसोलेशन केंद्र से सभी लोगों का वीडियो भी मंगाया गया है.

ये भी पढ़ें- Coronavirus: जेल में बंद कैदियों को पैरोल पर छोड़ने की कवायद तेज

ये भी पढ़ें- रामनवमी के मौके पर पटना के हनुमान मंदिर का ऑनलाइन दर्शन कर सकेंगे भक्त
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading