लाइव टीवी

मुश्किल में JDU प्रवक्ता पवन वर्मा, गिर सकती है गाज

Anand Amrit Raj | News18Hindi
Updated: January 22, 2020, 9:48 PM IST
मुश्किल में JDU प्रवक्ता पवन वर्मा, गिर सकती है गाज
पवन वर्मा के बयान के पीछे मंशा पर वशिष्ठ नारायण ने कहा कि हो सकता है कि वे किसी अन्य पार्टी के संपर्क में हों जिसके चलते ऐसी बयानबाजी कर रहे हैं. (फाइल फोटो)

पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा- पार्टी की लाइन के खिलाफ बोलने वालों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. कहा- वर्मा ने कभी कोई ऐसा काम नहीं किया जिसकी चर्चा की जा सके.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 22, 2020, 9:48 PM IST
  • Share this:
पटना. दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 को लेकर JDU में अब अंदरूनी कलह की स्थिति बनती नजर आ रही है. बीजेपी के साथ दिल्ली चुनावों को लेकर किए गए गठबंधन पर पार्टी के प्रवक्ता पवन वर्मा की ओर से उठाए गए सवालों और CAA का विरोध करना अब उनको भारी पड़ता दिख रहा है. जेडीयू के प्रदेशाध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने उन पर तीखा प्रहार करते हुए कहा है कि वर्मा का पार्टी को खड़ा करने में कोई योगदान नहीं है. न्यूज 18 से खास बातचीत के दौरान वशिष्ठ नारायण ने कहा कि पार्टी के लिए पवन वर्मा ने ऐसा कोई भी काम नहीं किया जिसकी चर्चा भी की जा सके. ऐसी बयानबाजी सिर्फ मीडिया में बने रहने का एक तरीका है.

बीजेपी से संबंध काफी पुराना
इस दौरान वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा कि जेडीयू और बीजेपी का संबंध काफी पुराना है और बिहार में भी काफी सालों से हम मिलकर सरकार चला रहे हैं. ऐसे में बिहार से बाहर यदि हमारे संबंध मजबूत हो रहे हैं तो इसमें हर्ज क्या है.

किसी अन्य पार्टी के संपर्क में हो सकते हैं

पवन वर्मा के बयान के पीछे मंशा पर वशिष्ठ नारायण ने कहा कि हो सकता है कि वे किसी अन्य पार्टी के संपर्क में हों जिसके चलते ऐसी बयानबाजी कर रहे हैं. लेकिन पार्टी अब इस तरह के बयान बर्दाश्त नहीं करेगी. उन्होंने कड़े शब्दों में कहा कि वे अब पार्टी बैठक में इस मुद्दे को उठाएंगे और ऐसे लोगों पर कार्रवाई की बात भी हो सकती है. साथ ही उन्होंने कहा कि पवन जैसे नेताओं को पार्टी अब तवज्जो भी नहीं देती है.

बयानों को गंभीरता से देख रही है पार्टी
वही प्रशांत किशोर के एनआरसी और सीएए पर अमित शाह को चुनौती वाले सवाल पर वे बोले की पार्टी वैसे तमाम नेताओं के बयान को गंभीरता से देख रही है जो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के फैसले पर सवाल खड़ा कर रहे हैं. सूत्रों के अनुसार जल्द जेडीयू का शीर्ष नेतृत्व बैठक कर ऐसे नेताओं पर कोई कड़े फैसले ले सकता है.

ये भी पढ़ेंः पवन वर्मा बोले- नाराजगी नहीं, बस चाहता हूं JDU की विचारधारा स्पष्ट हो

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 22, 2020, 9:48 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर