लाइव टीवी

जहानाबाद में गायों पर कहर बनकर बरसी ठंड, बीमारी और शीतलहर से 15 दिन में 1 दर्जन पशुओं की मौत
Jehanabad News in Hindi

RAGHIB AHSAN | News18 Bihar
Updated: December 29, 2019, 9:42 PM IST
जहानाबाद में गायों पर कहर बनकर बरसी ठंड, बीमारी और शीतलहर से 15 दिन में 1 दर्जन पशुओं की मौत
जहानाबाद के श्रीकृष्ण गौशाला में मौसमी बीमारी और ठंड की वजह से गायों की मौत हो गई.

बिहार (Bihar) में ठंड की (cold wave) वजह से इंसानों के साथ-साथ जानवर भी हलकान हैं. जहानाबाद (Jehanabad) में शीतलहर और मौसमी बीमारी की वजह से पिछले 15 दिनों में एक दर्जन से अधिक गायों (cows) की मौत हो गई है.

  • Share this:
जहानाबाद. सूबे में ठंड कुछ इस तरह सितम (cold wave) ढाह रही है कि इंसान तो इंसान जानवर भी परेशान है. इसी ठंड की वजह से जहानाबाद (Jehanabad) का गौशाला (cowshed) इन दिनों गायों के लिए कब्रगाह बनता जा रहा है. जी हां, आपको जानकर हैरानी होगी कि पिछले 15 दिनों में इस गौशाला में मौसमी बीमारी (Seasonal disease) और ठंड की वजह से एक दर्जन से अधिक गायों की मौत हो चुकी है. जहानाबाद और पड़ोसी अरवल जिले के एकमात्र श्रीकृष्ण गौशाला में ठंड और मौसमी बीमारी के अलावा चारे की कमी भी एक बड़ी वजह है, जिससे गायों की मौत हुई है. गौशाला के कर्मचारियों ने बताया कि यहां मौजूद कई गायें अब भी गंभीर रूप से बीमार हैं.

बची सिर्फ 70 गायें
श्रीकृष्ण गौशाला में अब से कुछ माह पहले तक गाय और गोवंश की संख्या लगभग 100 थी. लेकिन ठंड और मौसमी बीमारी ने ऐसा कहर मचाया कि अब यहां कुल 70 गायें ही बची हैं. पिछले एक माह में चारा की कमी और फिर शुरू हुई कड़ाके की ठंड ने गौशाला में ऐसा आतंक मचाया कि तकरीबन एक दर्जन से ज़्यादा गायें असमय मर गईं. अब भी कई गायें गंभीर रूप से बीमार हैं, जिनमें से दो की हालत अत्यंत ही नाजुक बताई जा रही है. गौशाला के कर्मचारियों ने बताया कि गौशाला में मात्र दो शेड हैं, जो कवर किए हुए हैं. बाकी सारे जानवर खुले में रहते हैं, जिसकी वजह से उन्हें ठंड लग जाती है. गौशाला में संसाधनों की भी कमी है

समस्या की ओर नहीं जा रहा ध्यान

गौशाला के सचिव प्रकाश कुमार ने बताया कि उन्होंने पूर्व में भी पशुपालन विभाग के डॉक्टरों और अधिकारियों को इस तरह की परेशनियों को लेकर सूचना दी थी, लेकिन न तो अधिकारियों ने इस ओर ध्यान दिया और न ही ठंड से बचाव के लिए गौशाला में कोई व्यवस्था की गई. उन्होंने कहा कि गौशाला में दवाई, सफाई और चारे की घोर कमी है. इसके इलावा इतनी सारी संख्या में गायें होने के बावजूद देखभाल करने वाले कर्मचारी भी कम हैं. इस कारण चाहकर भी गायों की ठीक से देखभाल नहीं हो पाती है.

ये भी पढ़ें -

 असदुद्दीन ओवैसी ने किया ऐलान- बिहार में आसानी से NPR नहीं लागू कर पाएंगे CM नीतीश कुमार

 

17 लोगों से एक करोड़ की ऑनलाइन ठगी के चार आरोपी बिहार व झारखंड से गिरफ्तार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जहानाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 29, 2019, 9:42 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर