होम /न्यूज /बिहार /मलमास मेला: लाइसेंस है भक्‍ति संगीत बजाने का, बार-बालाएं नाच रहीं अश्‍लील गानों पर

मलमास मेला: लाइसेंस है भक्‍ति संगीत बजाने का, बार-बालाएं नाच रहीं अश्‍लील गानों पर

राजगीर के मलमास मेले के दौरान जागरण के नाम पर अश्लीलता बढ़ता जा रहा है. जिला प्रशासन द्वारा राजगीर के मलमास मेला के दौरान थियेटर पूरी तरह प्रतिबंध लगा दिया था. इसके स्थान पर जागरण का आयोजन करने का आदेश दिया था, लेकिन मेले में भक्ति गानों के बजाए लोगों के बीच अश्लीलता परोसा जा रहा है.

राजगीर के मलमास मेले के दौरान जागरण के नाम पर अश्लीलता बढ़ता जा रहा है. जिला प्रशासन द्वारा राजगीर के मलमास मेला के दौरान थियेटर पूरी तरह प्रतिबंध लगा दिया था. इसके स्थान पर जागरण का आयोजन करने का आदेश दिया था, लेकिन मेले में भक्ति गानों के बजाए लोगों के बीच अश्लीलता परोसा जा रहा है.

राजगीर के मलमास मेले के दौरान जागरण के नाम पर अश्लीलता बढ़ता जा रहा है. जिला प्रशासन द्वारा राजगीर के मलमास मेला के दौरा ...अधिक पढ़ें

    राजगीर के मलमास मेले के दौरान जागरण के नाम पर अश्लीलता बढ़ता जा रहा है. जिला प्रशासन द्वारा राजगीर के मलमास मेला के दौरान थियेटर पूरी तरह प्रतिबंध लगा दिया था. इसके स्थान पर जागरण का आयोजन करने का आदेश दिया था, लेकिन मेले में भक्ति गानों के बजाए लोगों के बीच अश्लीलता परोसा जा रहा है.

    पिछले चार दिनों से लगातार राजगीर मलमास मेले के दौरान भोजपुरी गानों पर बार बालाएं नाच दिखा रही हैं. इस दौरान बार बालाओं के कम कपड़े और अश्लील हरकते खुलेआम जारी है. बाबजूद इसके जिला प्रशासन कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है.

    पिछले साल मेले में सीसीटीवी लगाए गए थे, लेकिन इस बार इसका भी इंतजाम नहीं किया गया है. इस कारण मेला ठेकेदार संचालकों का मनोबल बढ़ता जा रहा है और देर रात तक अश्लीलता जारी है.

    आपको बता दें की जिला प्रशासन द्वारा थियेटर पर प्रतिबंध लगाने के बाद राजगीर मे बबाल मचा था. इस दौरान हुए हंगामे में 33 लोगों को जेल भी जाना पड़ा था. जिला प्रशासन द्वारा करीब एक करोड़ का राजस्व घाटा कर मेले की बंदोबस्ती भी की गई है. बताया जाता है कि सत्तारुढ़ दल के एक नेता मेला की बंदोबस्ती की गई है और उसी को फायदा पहुंचाने के लिए जिला प्रशासन अपनी आंखे मूंद रखी है.

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें