VIDEO: देखें, जब नालंदा विश्‍वविद्यालय को नया जीवन देने आए थे कलाम
Jehanabad News in Hindi

पूर्व राष्ट्रपति डॉक्‍टर एपीजे अब्दुल कलाम भले ही इस दुनिया को छोड़कर चले गए, लेकिन देश-विदेश का हर इंसान उन्‍हें याद करने के लिए उनकी पुरानी तस्‍वीरें, वीडियो, भाषण के क्‍लिप आदि को देख और सुन रहे हैं.

  • Share this:
पूर्व राष्ट्रपति डॉक्‍टर एपीजे अब्दुल कलाम भले ही इस दुनिया को छोड़कर चले गए, लेकिन देश-विदेश का हर इंसान उन्‍हें याद करने के लिए उनकी पुरानी तस्‍वीरें, वीडियो, भाषण के क्‍लिप आदि को देख और सुन रहे हैं.

लोगों के इसी स्‍नेह को देखते हुए ईटीवी/न्‍यूज18 अपनी लाइब्रेरी से कलाम साहब का एक वीडियो आपके लिए लेकर आया है. यह वीडियो उस समय का है जब 'मिसाइल मैन' नालंदा विश्‍वविद्यालय के निर्माण कार्य का जायजा लेने पहुंचे थे.

अपने प्रिय वैज्ञानिक और महान सपूत को खो देने पर विभिन्न राजनीतिक दलों और संगठनो ने भी गहरी संवेदना जताई है. कलाम साहब के निधन की खबर से नालंदा जिले में शोक की लहर है।



पूर्व राष्ट्रपति डॉ. कलाम के नि:शेष होने की सूचना जब नालंदा के लोगों को मिली तो स्तब्ध रह गए. नालंदा से डॉक्‍टर कलाम की यादें जुड़ी हैं। कलाम जब राष्ट्रपति थे तब वे 2003 में पहली बार नालंदा आए थे. उस समय नीतीश कुमार भारत के रेलमंत्री थे और उन्ही के बुलावे पर हरनौत में रेल कोच मेंटेनेंस फैक्टरी का शिलान्यास करने कलाम हरनौत पहुंचे थे।



नालंदा जो कि शिक्षा का प्रमुख केंद्र भी रहा है यहां देश दुनिया के लोग पढ़ने आते थे, लेकिन कालान्तर में नालंदा विश्‍वविद्यालय को नष्ट कर दिया गया था। बिहार में जब 2005 में नीतीश कुमार की सरकार बनी तब कलाम एक बार फिर बिहार आए और पटना में विधानमंडल के संयुक्त सत्र को संबोधित किया. साथ ही प्राचीन नालंदा विश्वविद्यालय की तर्ज पर अंतर्राष्ट्रीय नालंदा विश्‍वविद्यालय की स्थापना की परिकल्पना की थी।

उसके बाद उक्त दिशा में काम शुरू हुआ और आज नालंदा विश्वविद्यालय में पठन-पाठन शुरू हो चुका है. यह विश्‍वविद्यालय अपना आकार लेने की ओर अग्रसर है। नालंदा के शिक्षाविद भी पूर्व राष्ट्रपति डा. कलाम के निधन से काफी दुखी हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading