लाइव टीवी

परिजनों का आरोप, कैदियों से मिलने के लिए मांगी जाती है रिश्वत
Jehanabad News in Hindi

Sanjay Kumar | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: February 2, 2016, 6:58 PM IST
परिजनों का आरोप, कैदियों से मिलने के लिए मांगी जाती है रिश्वत
औरंगाबाद मंडल कारा में पेशी के लिए लाए जा रहे कैदियों के दो गुटों के बीच अचानक भिड़ंत हो गई. प्रत्यक्षदर्शियों की माने तो जेल में बंद कैदियों से मिलने के लिए उनके रिश्तेदार आए थे.  इतने में अचानक जेल के अंदर से एक पुलिसकर्मी डंडा लेकर भागा और कहने लगा अंदर मारपीट हो गई है.

औरंगाबाद मंडल कारा में पेशी के लिए लाए जा रहे कैदियों के दो गुटों के बीच अचानक भिड़ंत हो गई. प्रत्यक्षदर्शियों की माने तो जेल में बंद कैदियों से मिलने के लिए उनके रिश्तेदार आए थे.  इतने में अचानक जेल के अंदर से एक पुलिसकर्मी डंडा लेकर भागा और कहने लगा अंदर मारपीट हो गई है.

  • Share this:
औरंगाबाद मंडल कारा में पेशी के लिए लाए जा रहे कैदियों के दो गुटों के बीच अचानक भिड़ंत हो गई. प्रत्यक्षदर्शियों की माने तो जेल में बंद कैदियों से मिलने के लिए उनके रिश्तेदार आए थे.  इतने में अचानक जेल के अंदर से एक पुलिसकर्मी डंडा लेकर भागा और कहने लगा अंदर मारपीट हो गई है.

इसके बाद पुलिसकर्मी ने अंदर हो रहे हंगामे की सूचना अपने वरीय अधिकारियों को दे दी. जैसे ही जेल के अंदर मारपीट होने की घटना लोगों तक पहुंची वैसे ही मुलाकातियों पर मंडल कारा प्रबंधन ने अंदर जाने पर रोक लगा दी.

मांगी जाती है रिश्वत



इधर मामले की गंभीरता को देख तत्काल नगर थानाध्यक्ष मंडल कारा पहुंचे और मामले की छानबीन शुरू कर दी. मुलाकातियों ने जेल प्रशासन पर संगीन आरोप लगाते हुए कहा कि मुलाकात कराने के एवज में पुलिसकर्मी उनसे पैसे की मांग करते हैं.



पैसे नहीं देने पर मुलाकातियों को वापस उलटे पांव जाने को कह दिया जाता है. सबसे ज्यादा परेशानी उन परिजनों को होती है जो दूर-दराज के जिलों से अपने परिजनों से मुलाकात करने आते हैं.

परिजन-कैदी की नहीं हुई मुलाकात 

पश्चिम बंगाल से आए एक मुलाकाती ललित झझरिया ने कहा कि वे जेल में मिलने के लिए आए थे. जब जेल में जब उनके सामानों की चेकिंग की जा रही थी तभी पुलिस की अचानक भगदड़ मच गई कि अंदर कैदियों में झगड़ा हो गया है. इसके बाद सभी मुलाकातियों को बाहर निकाल दिया गया.

एक दूसरे मुलाकाती अमित पासवान ने कहा कि एक हफ्ते में एक बार मुलाकाती को मिलने दिया जाता है. लेकिन मंगलवार को जेल में भगदड़ वाला माहौल बन जाने के कारण अब एक हफ्ते तक उन्हें और इंतजार करना पड़ेगा.

बहरहाल, जेल प्रशासन ने मामले को छिपाने की नियत से मीडिया को भी अपने गुस्से का शिकार बनाया और सभी मीडियाकर्मियों को अंदर जाने से रोक दिया. इतना ही नहीं उनके साथ बदसलूकी भी की गई.

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जहानाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 2, 2016, 6:54 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading