होम /न्यूज /बिहार /10 शिक्षकों के जिम्मे है इस स्कूल की 2200 छात्राओं की पढ़ाई

10 शिक्षकों के जिम्मे है इस स्कूल की 2200 छात्राओं की पढ़ाई

कैमूर के जिला मुख्यालय में एक ऐसा विद्यालय भी है जहा 10 शिक्षकों के सहारे 2200 छात्राओं के पढ़ाई का जिम्मा है. नतीजन कोर्स पूरा नहीं होने पर छात्राओं को कोचिंग का सहारा लेना पड़ता है. मामला भभुआ के संपोषित बालिका हाई स्कूल का है.

कैमूर के जिला मुख्यालय में एक ऐसा विद्यालय भी है जहा 10 शिक्षकों के सहारे 2200 छात्राओं के पढ़ाई का जिम्मा है. नतीजन कोर्स पूरा नहीं होने पर छात्राओं को कोचिंग का सहारा लेना पड़ता है. मामला भभुआ के संपोषित बालिका हाई स्कूल का है.

कैमूर के जिला मुख्यालय में एक ऐसा विद्यालय भी है जहा 10 शिक्षकों के सहारे 2200 छात्राओं के पढ़ाई का जिम्मा है. नतीजन को ...अधिक पढ़ें

  • News18
  • Last Updated :

    कैमूर के जिला मुख्यालय में एक ऐसा विद्यालय भी है जहा 10 शिक्षकों के सहारे 2200 छात्राओं के पढ़ाई का जिम्मा है. नतीजन कोर्स पूरा नहीं होने पर छात्राओं को कोचिंग का सहारा लेना पड़ता है. मामला भभुआ के संपोषित बालिका हाई स्कूल का है.

    शिक्षकों की कमी से छात्राएं परेशान हैं तो प्रबंधन भी कुछ कह पाने की स्थिति में नहीं है. शिक्षको की कमी से समय से कोर्स पूरा नहीं होना परेशानी का सबसे बड़ा सबब बना जाता है. इस मसले पर स्कूल के प्रधानाध्यापक राजेश्वर प्रसाद से बात की गई तो उन्होने कहा कि इस मसले पर कई बार विभागीय अधिकारियों से भी बात की गई, लेकिन कुछ भी सकारात्मक परिणाम न निकल सका.

    जब न्यूज 18 ने जिला शिक्षा कार्यक्रम पदाधिकारी सत्यनारायण प्रसाद से उनका पक्ष जानना चाहा तो उन्होने कहा कि शिक्षक नियोजन प्रक्रिया चल रही है और जल्द ही इस समस्या का निदान कर दिया जाएगा.

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें