बिहार: सात फेरे दिलाने की तैयारी थी, समय रहते पुलिस ने रुकवाई नाबालिग की शादी

बिहार के जहानाबाद में पुलिस ने रोका बाल विवाह (सांकेतिक चित्र)

बिहार के जहानाबाद में पुलिस ने रोका बाल विवाह (सांकेतिक चित्र)

Child Marriage News: बिहार के जहानाबाद जिले में हो रहे इस बाल विवाह में लड़की की उम्र 14 साल थी. लड़का 18 साल का था. पुलिस ने दोनों परिवारों को थाने में बुलाया और काउंसलिंग की.

  • Share this:

जहानाबाद. पुलिस और प्रशासल की मुस्तैदी से एक नाबालिग बालिका वधू (Child Marriage) बनने से बच गई. पाली थाना क्षेत्र के नगवा गांव में नाबालिग बच्ची की बारात पहुंचने से पहले ही पुलिस उसके घर जा पहुंची और शादी को रोक दिया. नगवां गांव के रहने वाले रघुपति बिंद की 14 साल की बच्ची की बारात कल्पा थाना क्षेत्र से आने वाली थी. घर में शादी की रस्में भी पूरी की जा रही थीं लेकिन तभी सूचना पुलिस को मिल गई.

नाबालिग की शादी की सूचना मिलते ही एसडीओ और एसडीपीओ ने लोकल थाना पुलिस को कार्रवाई का आदेश दिया जिसके बाद लड़का और लड़की दोनों पक्ष के लोगों को अपने कार्यालय में बुला कर कॉउंसलिंग की गई. लड़की के पिता ने बताया कि उनकी बेटी चौदह साल की है परंतु उन्हें जब मालूम चला कि बाल विवाह कानूनी अपराध है तो उन्होंने शादी ताल दी.

उनके घर पर पहुंची पुलिस और अधिकारियों की टीम ने बाल विवाह करने पर उन पर कानूनी कार्रवाई की बात कही गई. इसी बीच स्थानीय अधिकारियों द्वारा दोनों पक्ष के लोगों को अनुमंडल कार्यालय में बुला कर काउंसलिंग कराई गई. नाबालिग युवती के पिता ने बताया कि अधिकारियों के समझाने पर उन्होंने अपनी बेटी की शादी का फैसला टाल दिया है. जब तक उनकी बेटी अठारह साल की नहीं हो जाती है तब तक वो अपनी बच्ची का विवाह नही करेंगे.

जहानाबाद में होने वाले इस विवाह में लड़की की उम्र चौदह साल थी तो लड़के की उम्र अठारह वर्ष. जहानाबाद जिला प्रशासन की पहल पर रोकी गयी इस शादी के बाद अब दोनों पक्ष के लोगो को और लड़की के बालिग होने तक शादी का इंतजार करना पड़ेगा.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज