प्रेम-प्रसंग में दोस्त ही बने कातिल: पहले साथ में शराब पी फिर मौका पाते ही कर दी हत्या
Jehanabad News in Hindi

प्रेम-प्रसंग में दोस्त ही बने कातिल: पहले साथ में शराब पी फिर मौका पाते ही कर दी हत्या
सांकेतिक चित्र

सौरभ भी मृतक मंटू का अच्छा दोस्त था. 29 जनवरी की रात सौरभ अपने चार दोस्तों के साथ मंटू के घर गया और घटना को अंजाम दिया.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
बिहार की जहानाबाद पुलिस ने मंटू हत्याकांड का खुलासा कर लिया है. पुलिस ने इस हत्याकांड में शामिल दो आरोपियों को धर दबोचा है जबकि दो अन्य आरोपी अभी भी पुलिस गिरफ्त से बाहर हैं. जहानाबाद के एसपी मनीष ने बताया कि गत 29 जनवरी की रात प्रेम-प्रसंग में छात्र मंटू कुमार को उसके ही चार दोस्तों ने मिलकर मार डाला था.

ये भी पढ़ें- ग्राहक बनकर दुकान में घुसे बदमाश और पलक झपकते ही लूट ले गए दो करोड़ की ज्वेलरी

मंटू की निर्मम तरीके से हत्या करने के बाद साक्ष्य को छिपाने के उद्देश्य से शव को कृषि फोरम में फेंक दिया गया था. हत्याकांड के बाद पुलिस ने वैज्ञानिक तरीके से छानबीन की तो तीन दिनों के अंदर ही इस हत्याकांड की गुत्थी सुलझ गई. एसपी ने बताया कि नगर थाना क्षेत्र के मौर्य नगर मोहल्ले में मृतक मंटू किराये के मकान में रहकर पढ़ाई करता था. इसी दौरान मोहल्ले की एक युवती से उसका अफेयर हो गया.



ये भी पढ़ें- STF के हत्थे चढ़ा कुख्यात अपराधी जटहा, पिस्टल वाली तस्वीर भेजकर मांगता था रंगदारी



दोनों का आपस में काफी मिलना जुलना होता था और बातचीत भी होती थी. जब इस बात की जानकारी युवती के एक रिश्तेदार सौरभ कुमार को हुई तो सौरभ ने हत्या की साजिश रच डाली. सौरभ भी मृतक मंटू का अच्छा दोस्त था. 29 जनवरी की रात सौरभ अपने चार दोस्तों के साथ मंटू के घर गया. मंटू उस रात अपने किराये के मकान में अकेले था.

ये भी पढ़ें- सीएम नीतीश कुमार बोले- अगले एक महीने तक देश में कुछ भी हो सकता है

आरोपी सौरभ और उसके दोस्तों ने पहले मिलकर शराब पी और बाद में छात्र मंटू की गला घोंट कर एवं शराब की बोतल घोंप कर निर्मम तरीके से हत्या कर दी और शव को कृषि फार्म में ठिकाना लगा दिया और मौके से फरार हो गया. पुलिस ने छापेमारी के क्रम में सौरभ के घर से खून से सना कपड़े भी बरामद किए हैं.

पकड़े गए आरोपी गुंजन कुमार और कुंदन कुमार ने इस मामले में अपनी संलिप्तता भी पुलिस के समक्ष स्वीकार की है. इस हत्याकांड का मास्टरमाइंड सौरभ और उसका एक अन्य सहयोगी अभी भी फरार है. पुलिस उनकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी करने में जुटी है.

रिपोर्ट- रागिब अहसन
First published: February 4, 2019, 2:23 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading