लाइव टीवी

केंद्र सरकार काला कानून लाती है और नीतीश कुमार उसका समर्थन करते हैं- कन्हैया कुमार
Jehanabad News in Hindi

News18 Bihar
Updated: January 22, 2020, 10:03 AM IST
केंद्र सरकार काला कानून लाती है और नीतीश कुमार उसका समर्थन करते हैं- कन्हैया कुमार
बिहार के जहानाबाद में कन्हैया कुमार सीएए और एनआरसी के विरोध में सभा को संबोधित करते हुए.

कन्हैया कुमार ने कहा कि केंद्र की सरकार देश मे धार्मिक भेदभाव करते हुए काला कानून लाती है, वहीं नीतीश कुमार उस कानून के पहली सीढ़ी एनपीआर को लागू करने की बात कहते हैं.

  • Share this:
जहानाबाद. नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर(NRC) के खिलाफ चल रहे अनश्चितकालीन धरना में सीपीआई के कन्हैया कुमार (Kanhaiya Kumar) शामिल हुए. उन्होंने एनपीआर कानून को एनआरसी की पहली सीढ़ी बताते हुए इसका पुरजोर तरीके से विरोध करने की बात कही. जहानाबाद नगर के पीजी रोड के किनारे चल रहे अनिश्चितकालीन धरना में देर रात शामिल होने आए कन्हैया कुमार को देखने और सुनने को भारी तादाद में लोग पहुंचे.

जेएनयू में आज़ादी के लगाए गए नारों से मशहूर हुए कन्हैया कुमार ने जहानाबाद में भी जमकर आज़ादी के नारे लगाते हुए कहा कि सरकार के इस काला कानून का हर जगह विरोध हो रहा है और इस विरोध की कमान महिलाओं ने अपने कंधों पर उठा ली है.

उन्होंने अपने भाषण के दौरान केंद्र की मोदी सरकार और बिहार की नीतीश सरकार पर जमकर हमला बोलते हुए कहा कि एक ओर केंद्र की सरकार देश मे धार्मिक भेदभाव करते हुए काला कानून लाती है, वहीं नीतीश कुमार उस कानून के पहली सीढ़ी एनपीआर को लागू करने की बात कहते हैं.

उन्होंने कहा कि एनआरसी से सबसे ज़्यादा परिशनी दलित, महादलित, आदिवासी और गरीब गुरबों को होगी. जिस तरह असम में लोग इस कानून से परेशान हैं वैसे ही केंद्र की सरकार पूरे देश के नागरिकों को परीशान करने की कवायद कर रही है.

जहानाबाद में चल रहे इस अनिश्चित कालीन धरना में देर रात और कड़ाके की ठंड के बावजूद देर रात तक बड़ी संख्या में महिलाएं भी मौजूद थीं.

ये भी पढ़ें
बिहार: महिला पुलिसकर्मी ने DGP से कहा- हटिए, नहीं तो टन्न से ठोक देंगे




बिहार: आज से शुक्रवार तक बंद रहेंगी दवा की दुकानें, जानें कहां मिलेंगी दवाएं

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जहानाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 22, 2020, 9:59 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर