Bihar: लॉकडाउन में मछली पार्टी करने वाले शिक्षा मंत्री के स्टाफ समेत 25 पर केस, बीडीओ-डीएसपी पर भी गिरी गाज

बिहार के शिक्षा मंत्री की फाइल फोटो
बिहार के शिक्षा मंत्री की फाइल फोटो

Lockdown 2.0: बिहार के शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा (Education Minister Bihar) के स्टाफ और करीबी माने जाने वाले पिंटू यादव पर मछली पार्टी करने का आरोप लगा है.

  • Share this:
जहानाबाद. बिहार के जहानाबाद में लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान मछली पार्टी करने के आरोप में बिहार के शिक्षा मंत्री (Education Minister Of Bihar) का स्टाफ बुरी तरह के फंस गया है. पुलिस ने हिरासत में लेने के बाद मंत्री के स्टाफ समेत 25 लोगों के खिलाफ केस (FIR) दर्ज किया है. पुलिस ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए पहले सुगांव गांव से बिहार के शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा के निजी सहायक पिंटू यादव को हिरासत में लिया फिर पूछताछ के बाद पुलिस ने जहानाबाद एसडीपीओ, मखदुमपुर बीडीओ और सीओ, पिंटू यादव सहित 25 लोगो के खिलाफ केस दर्ज किया है. सभी के खिलाफ आपदा एक्ट उलंघन मामले में जहानाबाद के टेहटा ओपी में केस दर्ज किया गया है.

15 अप्रैल को हुई थी पार्टी
पिंटू यादव पर लॉकडाउन के दौरान जहानाबाद स्थित आवास में कानून का उल्लंघन करते हुए मछली पार्टी करने का आरोप है. 15 अप्रैल को पिंटू के घर हुई इस पार्टी में कई अधिकारी भी शामिल हुए थे. सबके खिलाफ टेहटा ओपी में मामला दर्ज है. कहा तो ये भी जा रहा है कि इस पार्टी में शामिल होने के आरोप में डीएसपी को भी सस्पेंड कर दिया गया है, लेकिन इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हो सकी है.

डीएसपी-बीडीओ ने भी लिया था मछली का मजा
बिहार के शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा के स्टाफ और करीबी माने जाने वाले पिंटू यादव ने पिछले दिनों लॉकडाउन कानून को ठेंगा दिखाते हुए अपने नए और आलीशान घर में मछली पार्टी का आयोजन किया था. इस पार्टी में मंत्री के स्टाफ सहित जहानाबाद जिले के कई डीएसपी लेवल के अधिकारी समेत अन्‍य अफसर भी शामिल हुए थे. इसको पूरी तरह से गोपनीय रखा गया था, लेकिन इसकी जानकारी बाद में मीडिया में आई जिसके बाद मंत्री कृष्णनंदन वर्मा को सफाई देनी पड़ी.



मंत्री की सफाई
इस पार्टी में मंत्री के कई करीबी लोगों के साथ ही जिले के कई अफसर और डीएसपी के भी शामिल होने की खबर आई थी. करीब डेढ़ सौ लोगों की इस पार्टी में मछली बनाने के लिए बाहर के कारीगरों को बुलाया गया था और इस पार्टी में जहानाबाद समेत शिक्षा विभाग के कई बड़े अधिकारी भी शामिल थे. जब इस पार्टी की जानकारी मीडिया को लगी तो इससे बचने के लिए पार्टी के सबूत नष्‍ट कर दिए गए. इस मामले में बिहार के शिक्षा मंत्री ने कोई जानकारी न होने की बात कही थी. साथ ही ये भी कहा था कि जो भी लोग इसके लिए दोषी होंगे उनपर कार्रवाई होगी.

ये भी पढ़ें- Lockdown: 20 अप्रैल से खुलेंगे बिहार के सभी सरकारी कार्यालय, गाइडलाइन जारी

ये भी पढ़ें- डोर टू डोर स्क्रीनिंग करने गई महिलाकर्मियों से बदसलूकी, JDU नेता गिरफ्तार
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज