Home /News /bihar /

बिहार: महादलित युवक अपने समुदाय के बच्चों में जगा रहे संस्कृत और वैदिक शिक्षा का अलख

बिहार: महादलित युवक अपने समुदाय के बच्चों में जगा रहे संस्कृत और वैदिक शिक्षा का अलख

जयदेव मांझी मुफ्त में बच्चों को संस्कृत और वैदिक शिक्षा दे रहे हैं.

जयदेव मांझी मुफ्त में बच्चों को संस्कृत और वैदिक शिक्षा दे रहे हैं.

Jahanabad News: जहानाबाद के रातनबीघा मुसहर टोली में पेड़ के नीचे अनोखी पाठशाला लगती है. यहां छोटे-छोटे महादलित परिवार के बच्चे संस्कृत और वैदिक शिक्षा का पाठ पढ़ते हैं. यह सब गांव के रहने वाले जयदेव मांझी के प्रयास से संभव हुआ है.

अधिक पढ़ें ...

जहानाबाद. बिहार के जहानाबाद जिले के काको प्रखंड क्षेत्र के रतन बीघा महादलित टोले में इन दिनों संस्कृत के श्लोक और रामायण की चौपाई की गूंज रही हैं. गांव के रहने वाले एक महादलित युवक ने संस्कृत और वैदिक शिक्षा की बुझी हुई लौ को फिर से जलाने की कोशिश की है. यह युवक बच्चों को मुफ्त में संस्कृत और वैदिक शिक्षा का ज्ञान दे रहा है.

काको प्रखंड के रातनबीघा मुसहर टोली में पेड़ के नीचे अनोखी पाठशाला लगती है. यहां छोटे-छोटे महादलित परिवार के बच्चे संस्कृत और वैदिक शिक्षा का पाठ पढ़ते हैं. यह सब रातनबीघा गांव के रहने वाले ही जयदेव मांझी के चलते संभव हुआ है. जयदेव ने तमाम परेशानियों के बावजूद संस्कृत से आचार्य यानी एमए के समकक्ष की डिग्री हासिल की. और अब अपने समाज के बच्चों को मुफ्त में संस्कृत का ज्ञान दे रहे हैं. जयदेव जीवनयापन के लिए मजदूरी करते हैं. लेकिन मुफ्त में बच्चों को अपनी संस्कृति से रु-ब-रु करा रहे है.

जयदेव की क्लास सजते ही बच्चे संस्कृत श्लोक का पाठ करने लगते हैं. बच्चों को मधुर उच्चारण सुनकर पूरा गांव क्लास के पास इकट्ठा हो जाता है. बच्चों ने बताया कि उन्हें यहां संस्कृत के साथ-साथ अन्य विषय का भी पाठ पढ़ाया जाता है. परंतु ज़्यादा जोर संस्कृत पर ही होता है. उन्हें संस्कृत सीखने में मजा आता है.

महादलित समुदाय में शिक्षा का स्तर काफी नीचे है. ऐसे में जयदेव मांझी द्वारा संस्कृत में आचार्य की डिग्री लेकर बच्चों में संस्कृत का अलख जगाना काबिले तारीफ है.

Tags: Bihar latest news, Sanskrit language

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर