होम /न्यूज /बिहार /हैदराबाद ले जाकर नाबालिग का 2 महीने किया यौन शोषण, थानेदार ने नहीं लिखी FIR

हैदराबाद ले जाकर नाबालिग का 2 महीने किया यौन शोषण, थानेदार ने नहीं लिखी FIR

बिहार की बच्ची से हैदराबाद में रेप करने का मामला सामने आया है (सांकेतिक चित्र)

बिहार की बच्ची से हैदराबाद में रेप करने का मामला सामने आया है (सांकेतिक चित्र)

बिहार के जहानाबाद में हुई इस घटना को लेकर पीड़िता की मां ने एसपी से गुहार लगाई तो पूरे मामले का खुलासा हुआ. इस मामले मे ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

आरोप है कि बच्ची को 25 जुलाई को बहला फुसलाकर हैदराबाद ले जाया गया था
शुक्रवार को पीड़िता की मां अपने बच्चे के साथ एसपी के जनता दरबार में पहुंची
पुलिस कप्तान दीपक रंजन ने बताया कि मामले की जांच करवाई जा रही है

रिपोर्ट- राजीव विमल

जहानाबाद. बिहार के जहानाबाद में एक नाबालिग बच्ची के साथ हैदराबाद ले जाकर दो महीनों तक यौन शोषण करने का मामला सामने आया है. घटना काको थाना क्षेत्र स्थित एक गांव की है. पीड़िता की मां ने आरोप लगाया है कि उसकी नाबालिग लड़की को गायब कर गांव का एक युवक हैदराबाद ले गया और वहां ले जाकर दो महीनों तक यौन शोषण किया.

पीड़िता की मां ने क्या बताया?
पीड़िता की मां ने बताया कि गांव के ही एक युवक जिसका नाम चंदन है उसकी 15 वर्षीय बच्ची को 25 जुलाई को बहला फुसलाकर हैदराबाद ले गया जहां उसे एक कमरे में बंद कर दो माह तक यौन शोषण किया. बच्ची की तलाश को लेकर 26 जुलाई को काको थाना में आवेदन दिया लेकिन काको थानाध्यक्ष ने शिकायत तक दर्ज नही की. पीड़िता की मां ने बताया कि दो माह बाद यानी 25 सितंबर को फिर एक बार काको थाना प्रभारी से मिली जिसके बाद पुलिस की पहल पर लड़की हैदराबाद से वापस अपने घर पहुंची लेकिन इस मामले में ना ही आरोपी लड़का पकड़ा गया और ना ही कोई कार्रवाई हुई.

थानाध्यक्ष पर पीड़िता की मां का आरोप
पीड़िता की मां ने थानाध्यक्ष पर आरोप लगाते हुए कहा कि जब थानाध्यक्ष से आगे की कार्रवाई की बात कहीं, तो थानाध्यक्ष ने उसकी बेटी की इज्जत का हवाला देते हुए उसे थाना से भगा दिया. अंत में पीड़िता को लेकर उसकी मां एसपी के जनता दरबार में पहुंची और एसपी को आपबीती सुनाई. काको थाना के थानाध्यक्ष ने इस मामले में बताया कि मामला उनके थाने में लेकर पीड़िता की मां पहुंची थी जिसके बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए आरोपी को हिरासत में लिया था लेकिन बच्ची के परिजनों के लिखित आवेदन के बाद आरोपी को छोड़ दिया गया था.

पुलिस कप्तान दीपक रंजन के पास पहुंचा मामला 

शुक्रवार को पीड़िता की मां अपनी बच्चे के साथ एसपी के जनता दरबार में पहुंची. इस बाबत एसपी दीपक रंजन ने बताया कि मामला मेरे संज्ञान में आया है. इस मामले में प्राथमिकी दर्ज कर आरोपी की गिरफ्तारी को लेकर एसडीपीओ और काको थाना के एसएचओ को निर्देश दिया गया है और आगे की कार्रवाई की जा रही है.

Tags: Bihar News, Jehanabad news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें