नीतीश कुमार की जीत पर अपनी उंगलियां काट लेता है ये फैन, अब तक दे चुका है चार 'बलि'

नीतीश कुमार की जीत पर उंगली काटने वाले अनिल शर्मा

Nitish Kumar Fan: बिहार के जहानाबाद (Jehanabad) के रहने वाले इस शख्स की कहानी 2005 से इलाके के लोगों के बीच सुर्खियां बनती हैं. वो अभी तक अपने हाथ की चार उंगलियों को नीतीश कुमार (Nitish Kumar) की जीत के बाद बलि के तौर पर दान कर चुका है.

  • Share this:
जहानाबाद. बिहार में नई सरकार के गठन को लोग अलग-अलग तरीके से सेलिब्रेट कर रहे हैं. एनडीए (NDA) के नेता जहां मंदिरों में पूजा-अर्चना कर, पटाखे जलाकर, मिठाइयां बांटकर इस जीत को उत्सव के तौर पर मना रहे हैं. वहीं एक ऐसा भी शख्स सामने आया है जिसने नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के फिर से सीएम बनने की खुशी में अपने हाथ की उंगली काट दी.

बिहार के जहानाबाद जिले (Jehanabad) का रहने वाला ये युवक नीतीश कुमार का इतना बड़ा फैन है कि उनकी हर जीत पर अपनी उंगली काट लेता है. बिहार में नीतीश सरकार बनने की खुशी में एक बार फिर से इस सनकी युवक ने अपने हाथ की उंगली को काटकर खुशी मनाई. पिछले तीन बार से नीतीश कुमार के मुख्यमंत्री बनने के साथ ही यह सनकी हांथ की उंगली काट कर खुशी का इजहार करता है.

जहानाबाद जिले के घोसी थाना क्षेत्र के वैना गांव के इस 45 साल के शख्स का नाम अनिल शर्मा उर्फ अलीबाबा है जो इस बार फिर से उंगली काटकर सुर्खियों में है. अनिल शर्मा ऊर्फ अली बाबा ने 2005 में सबसे पहले अपनी उंगली काट कर गौरेया बाबा को चढ़ाई थी और इसके बाद से ये सिलसिला जारी है. 2010 में अनिल ने नीतीश की जीत पर अपने हाथ की दूसरी उंगली काट दी. नीतीश कुमार जब 2015 में सीएम बने तब भी अनिल शर्मा ने अपनी एक और यानि तीसरी उंगली काटकर गौरैया बाबा को चढाया और इस बार भी नीतीश की ताजपोशी होते ही उसने फिर वही काम किया.

उंगली काटे जाने की सूचना पर पहुंचे मीडिया वालों को उसने कहा कि अगर इस बार नीतीश कुमार की सरकार नहीं बनती तो वो अपनी गर्दन भी काट लेता. उसने बताया कि जिस तरह से एग्जिट पोल में नीतीश कुमार को हारते हुए दिखाया जा रहा था उससे वह इतना गमगीन हो गया कि उसने 4 दिनों तक है खाना पीना भी छोड़ दिया था. अनिल ने बताया कि वो नीतीश कुमार की जीत की खुशी में अपनी उंगली काटता रहता है.

युवक की उंगली काटे जाने की सूचना पर बड़ी संख्या में ग्रामीण उसके घर के पास जमा हो गए लेकिन अनिल ने बताया कि जब तक सीएम उससे नहीं मिलेंगे वो अपना इलाज भी नहीं कराएगा. अनिल के गांव के ग्रामीणों ने बताया कि वो कहीं बाहर काम करता था लेकिन बिहार विधानसभा चुनाव की घोषणा के साथ ही गांव आकर उसने अपनी संपत्ति बेची और फिर नीतीश कुमार का प्रचार करने लगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.