लाइव टीवी

पढ़िए, बिहार विद्यालय परीक्षा समिति की लापरवाही, पास छात्रा को किया फेल
Jehanabad News in Hindi

Ajeet Kumar | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: February 1, 2016, 7:07 PM IST
पढ़िए, बिहार विद्यालय परीक्षा समिति की लापरवाही, पास छात्रा को किया फेल
मैट्रीक परीक्षा की कॉपियों के मुल्यांकन में मनमानी करना बिहार विधालय परीक्षा समिति को महंगा पड़ गया. मानवाधिकार आयोग ने बोर्ड को सासाराम की एक छात्रा को एक लाख क्षतिपुर्ति देने का आदेश दिया है.

मैट्रीक परीक्षा की कॉपियों के मुल्यांकन में मनमानी करना बिहार विधालय परीक्षा समिति को महंगा पड़ गया. मानवाधिकार आयोग ने बोर्ड को सासाराम की एक छात्रा को एक लाख क्षतिपुर्ति देने का आदेश दिया है.

  • Share this:
मैट्रीक परीक्षा की कॉपियों के मुल्यांकन में मनमानी करना बिहार विधालय परीक्षा समिति को महंगा पड़ गया. मानवाधिकार आयोग ने बोर्ड को सासाराम की एक छात्रा को एक लाख क्षतिपुर्ति देने का आदेश दिया है.

दरअसल मैट्रीक परीक्षा में प्रियंका को पहले फेल कर दिया गया था. बाद में दावा करने पर आनन फानन में 61 अंक बढाकर प्रथम श्रेणी से उत्तीर्ण कर दिया गया. छात्रा फिर भी संतुष्ट नही हुई तथा मानवाधिकार आयोग का दरवाजा खटखटाया. फिर से मुल्यांकन के नाम पर 85 अंक बढा दिए गए.

आयोग ने इसे बड़ी लापरवाही मानते हुए परीक्षा समिति को एक लाख का क्षतिपर्ति देने का आदेश दिया. प्रियंका के प्रथम जांच में 244 फिर दूसरे जांच में 305 और फिर तीसरे जांच में 329 अंक मिले.



प्रियंका सासाराम के खैरा गांव की रहने वाली है. गांव में ही रह कर सासाराम के हाई स्कूल चौखंडी से वर्ष 2014 में मैट्रीक की परीक्षा दी थी. बिहार की टॉपर बनने का सपना था लेकिन बिहार विधालय परीक्षा समिति के लापरवाह वीक्षकों ने उसे फेल कर दिया.



मानवाधिकार ने मामले को गंभीर मानते हुए छात्रा के दो साल बर्बाद होने पर एक लाख क्षतिपुर्ति देने का आदेश दिया है. आयोग की सख्ती के कारण बिहार विधालय परीक्षा समिति ने कॉपी जांच करने वाले 9 शिक्षकों को किसी भी परीक्षा कार्य के लिए हमेशा के लिए अयोग्य कर दिया तथा परीक्षा समिति के एक सहायक रंजन कुमार को निलंबित कर दिया है.

प्रियंका के परिजनों का कहना है कि उन्हें उम्मीद थी की प्रियंका बिहार टॉपर बन सकती थी. लेकिन परीक्षा समिति के गैर जिम्मेदाराना रवैया के कारण वे महज प्रथम श्रेणी से ही पास हो कर रह गयी वही उसके दो साल भी बर्बाद हो गए.

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जहानाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 1, 2016, 7:03 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading