लाइव टीवी

कभी नरसंहार और जेल ब्रेक से थी पहचान आज फिल्म निर्माताओं की पसंद बन गया जहानाबाद

Ragib ahasan | News18 Bihar
Updated: December 11, 2019, 5:50 PM IST
कभी नरसंहार और जेल ब्रेक से थी पहचान आज फिल्म निर्माताओं की पसंद बन गया जहानाबाद
बिहार के नक्सल प्रभावित जहानाबाद जिला में फिल्म की शूटिंग करते निर्माता

अभिनेता (Film Actor) हैदर काज़मी ने बताया कि उन्होंने इससे पूर्व इसी जहानाबाद (Jehanabad) में तीन अन्य भोजपुरी फ़िल्म (Bhojpuri Film) की भी शूटिंग की है जिसने रिकॉर्ड तोड़ कमाई की थी

  • Share this:
जहानाबाद. बिहार के जिस जिले की पहचान कभी नक्सली कांड (Naxal Attack) और उनकी गोलियों की तड़ताहत (Crime) से होती थी वहां अब लाइट, कैमरा और एक्शन जैसे शब्द सुनने और कलाकारों की टोली देखने को मिल रही है. हम बात कर रहे हैं जहानाबाद (Jehanabad) की जहां इन दिनों फिल्म की शूटिंग (Film Shooting) हो रही है. जहानाबाद जेल ब्रेक (Jail Break) की घटना से चर्चित हुए इस शहर की बदली फ़िज़ा इन दिनों रुपहले पर्दे के कलाकारों को खूब भा रही है. इसी कड़ी में जहानाबाद के पाली गांव पहुंचकर मुंबई से आई कलाकारों की टीम बैंडिट शकुंतला नाम की फिल्म बनाने में व्यस्त है.

बैंडिट शकुंतला की हो रही शूटिंग

सत्य घटना पर आधारित और दबी कुचली महिला पर जुल्म की दास्तान और उसके इन्तक़ाम को लेकर बनाई जा रही यह फ़िल्म कभी नक्सली क्षेत्र रहे पाली गांव सहित अन्य ऐतिहासिक और कुख्यात रहे क्षेत्रो में भी फिल्माई जाएगी. इस फिल्म के निर्देशक और भोजपुरी सहित अन्य हिंदी फिल्मों में अभिनेता के तौर पर काम कर चुके हैदर काज़मी ने बताया की जहानाबाद उनका वतन है. उन्होंने कहा कि जहानाबाद की तस्वीर जिस तरह पेश की जाती है दरअसल जहानाबाद उस तस्वीर से बिल्कुल अलग है. उन्होंने कहा कि बैंडिट शकुंतला नाम से बनने वाली इस फ़िल्म का किरदार और लोकेशन को लेकर उन्होंने जहानाबाद का चयन किया है.

पहले भी हो चुकी है फिल्मों की शूटिंग

देश के कई हिस्सों के रहने वाले कलाकार भी जहानाबाद इस फ़िल्म के निर्माण को लेकर आये है ताकि फ़िल्म के हिसाब से बेहतर लोकेशन के साथ साथ बाहर रहने वाले लोगो के दिलो दिमाग से जहानाबाद का खौफ मिट सके. अभिनेता हैदर काज़मी ने बताया कि उन्होंने इससे पूर्व इसी जहानाबाद में तीन अन्य भोजपुरी फ़िल्म की भी शूटिंग की है जिसने रिकॉर्ड तोड़ कमाई की थी, परंतु सूबे के कला एवं संस्कृति विभाग द्वारा कोई कदम ना उठाये जाने से बाहर से आकर बिहार में काम करने वाले कलाकार और फ़िल्म निर्माताओं की हिम्मत टूट जाती है.

शूटिंग देखने के लिए उमड़ रही लोगों की भीड़

फ़िल्म की शूटिंग की खबर मिलने पर आसपास के लोगों का हुजुम पाली गांव की तरफ उमड़ पड़ा है और लोग फ़िल्म शूटिंग की झलक पाने को बेताब है. इस फ़िल्म के निर्माता ने बताया कि पहले तो बिहार और जहानाबाद के नाम से ही डर लगता था परंतु इस इलाके की समाजिक व्यवस्था और माहौल बहुत बेहतर है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जहानाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 11, 2019, 5:39 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर