होम /न्यूज /बिहार /खबर का असर: गेट के बंद ताले खुल गए, जवानों ने डेरा डाल दिया, 8 साल बाद अस्तित्व में आया पुलिस ओपी

खबर का असर: गेट के बंद ताले खुल गए, जवानों ने डेरा डाल दिया, 8 साल बाद अस्तित्व में आया पुलिस ओपी

जहानाबाद का सिकरिया ओपी अब काम करने लगा है. इनसेट में जवानों की वर्दी.

जहानाबाद का सिकरिया ओपी अब काम करने लगा है. इनसेट में जवानों की वर्दी.

Bihar News: जहानाबाद जिले में स्थित सिकरिया गांव सीएम नीतीश कुमार का चहेता गांव रहा है. राज्य में चलने वाली लगभग सारी य ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

न्यूज 18 की खबर का बड़ा असर, जहानाबाद जिले को मिला नया पुलिस ओपी.
उद्घाटन के 8 साल बाद अब अस्तित्व में आया जहानाबाद का सिकरिया ओपी.
नीतीश कुमार ने सरकार, आपके द्वार कार्यक्रम की सिकरिया से की थी शुरुआत.

रिपोर्ट- राजीव रंजन विमल
जहानाबाद. उद्घाटन के 8 वर्ष बाद जहानाबाद जिले के सिकरिया में पुलिस ओपी विधिवत अस्तित्व में आ गया है. गेट के बंद ताले खुल गए हैं और बैरक में जवानों ने डेरा डाल दिया है. दशकों से नक्सलियों के गढ़ रहे, लाल इलाके के रूप में चर्चित और सुरक्षा की दृष्टि से अति संवेदनशील रहा यह क्षेत्र अब तक इस मामले में उपेक्षित था. न्यूज 18 ने इस खबर को काफी प्रमुखता से उठाया और पुलिस महकमे में इसको लेकर हलचल हुई. इसका असर हुआ; और अब एसपी दीपक रंजन ने न्यूज 18 को इसकी जानकारी देते हुए बताया कि सिकरिया में पुलिस ओपी का नोटिफिकेशन कर दिया गया है.

एसपी दीपक रंजन ने बताया कि सिकरिया ओपी में 24 गांवों को शामिल किया गया है जिसमें कड़ौना ओपी के 20 गांव और कल्पा ओपी के चार गांव शामिल किए गए हैं. उन्होंने बताया कि यह जिले में खुलने वाला 19 वां पुलिस ओपी है. इसके साथ ही सिकरिया पिकेट में तैनात सभी सैप के जवान और पुलिस अधिकारी अब नये ओपी में शिफ्ट कर दिए जाएंगे. ओपी के नए अध्यक्ष को भी नियुक्ति कर दिया गया है. नए ओपी को पूर्ण थाने में तब्दील करने को लेकर भी प्रस्ताव मुख्यालय के पास भेज दिया गया है. उम्मीद है जल्द ही इसमें कार्रवाई की जाएगी.

एसपी दीपक रंजन के अनुसार, डीआईओ में पदस्थापित दिलीप पाठक को सिकरिया ओपी के पहले अध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपी गई है. इसी इसी तरह से कड़ौना ओपी में एएसआई वालकेश्वर राम घोसी में पदस्थापित एएसआई अमरेंद्र राम को और भेलावर में तैनात एएसआई अश्विनी कुमार को सिकरिया में तैनात किया गया है.

एसपी ने बताया कि ओपी के खुलने से सिकरिया के इलाके में बेहतर पुलिसिंग और अपराध पर नियंत्रण पाया जा सकेगा. इसके साथ ही 24 गांव के लोगों के बीच अमन चैन कायम करने में मदद मिलेगी. बता दें कि जहानाबाद जिले के पश्चिम में स्थित सिकरिया गांव सीएम नीतीश कुमार का चहेता गांव रहा है. राज्य में चलने वाली लगभग सारी योजनाएं इस गांव में है. सरकार आपके द्वार कार्यक्रम की शुरुआत भी यहीं हुई थी और उस समय ही थाने की घोषणा हुई थी.

घोषणा के कुछ ही दिनों के बाद भवन निर्माण का काम शुरू हुआ था. इसका उद्घाटन सीएम जीतन राम मांझी ने किया था. लेकिन, 8 साल तक तैयार भवन खंडहर में तब्दील होता रहा. न्यूज 18 ने प्रमुखता से इस खबर को उठाया और इसका असर भी हुआ. गांव के आसपास के लोग न्यूज 18 का शुक्रिया अदा करते नहीं थक रहे. साथ ही इस बात की खुशी भी जता रहे हैं कि थाना बन जाने से आपराधिक गतिविधियों पर लगाम लगेगी साथ ही लोगों को अब केस दर्ज कराने दूर नहीं जाना पड़ेगा.

Tags: Bihar News, Bihar News in hindi, Bihar police, CM Nitish Kumar, Former CM Jitan Ram Manjhi, Jehanabad news, Jitan ram Manjhi

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें