बिहार चुनाव 2020: नहीं मिला टिकट तो फूट-फूट कर रो पड़े JDU के जिलाध्यक्ष, कहा- निर्दलीय लड़ेंगे

पार्टी कार्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर जेडीयू के कैमूर जिलाध्यक्ष प्रमोद सिंह ने भभुआ विधानसभा सीट से निर्दलीय चुनाव लड़ने का ऐलान किया
पार्टी कार्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर जेडीयू के कैमूर जिलाध्यक्ष प्रमोद सिंह ने भभुआ विधानसभा सीट से निर्दलीय चुनाव लड़ने का ऐलान किया

प्रमोद सिंह (Pramod Singh) ने यह दावा किया कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) के वर्चुअल रैली में उन्हें यह आश्वासन मिला था कि आपको यहां नेतृत्व करने को मिलेगा, लेकिन ऐसा नहीं हुआ. इसलिए हम यह प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाकर अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं और समर्थकों से माफी मांगते हैं

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 6, 2020, 11:47 PM IST
  • Share this:
भभुआ. बिहार के कैमूर जिले (Kaimur District) के जनता दल युनाइटेड (JDU) के अध्यक्ष डॉ. प्रमोद सिंह (Pramod Singh) ने बगावत करते हुए पार्टी छोड़ने की घोषणा की है. मंगलवार को एनडीए में सीटों के बंटवारे (Seat Distribution In NDA) में जिले के चारों विधानसभा क्षेत्र बीजेपी (BJP) के हिस्से में चले जाने से नाराज प्रमोद सिंह ने यह कदम उठाया है. मंगलवार की शाम उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाकर कहा कि वो अब भभुआ विधानसभा क्षेत्र (Bhabua Assembly Seat) से निर्दलीय चुनाव लड़ेंगे. इसके लिए वो आठ अक्टूबर को अपना नामांकन दाखिल करेंगे.

स्थानीय पार्टी कार्यालय में प्रेस वार्ता करते हुए पूर्व विधायक और जेडीयू के जिलाध्यक्ष प्रमोद सिंह रो पड़े. उन्होंने कहा कि हम और हमारे कार्यकर्ता कैमूर में बीजेपी के चारों विधायक को हराने का काम करेंगे. उन्होंने बीजेपी-जेडीयू के गठबंधन पर सवाल उठाते हुए कहा कि यह कैसा गठबंधन है कि जिले की चारों विधानसभा सीट बीजेपी के पास है. दो एमएलसी की सीटें भी बीजेपी के पास है और एक सांसद की सीट भी बीजेपी के पास चली गई. उन्होंने दावा किया कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के वर्चुअल रैली में उन्हें यह आश्वासन मिला था कि आपको यहां नेतृत्व करने को मिलेगा, लेकिन ऐसा नहीं हुआ. इसलिए हम यह प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाकर अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं और समर्थकों से माफी मांगते हैं.

बता दें कि कैमूर जिले में चार विधानसभा सीट हैं- भभुआ, चैनपुर, मोहनिया और रामगढ़. वर्ष 2015 के विधानसभा चुनाव में इन चारों सीटों पर बीजेपी ने कब्जा जमाया था.



बिहार विधानसभा के लिए तीन चरणों में चुनाव होना है जिसमें पहले चरण के लिए 28 अक्टूबर, दूसरे चरण के लिए तीन नवंबर और तीसरे चरण के लिए सात नवंबर को मतदान होना है. वहीं चुनाव के नतीजे 10 नवंबर को आएंगे. 243 सदस्यों वाले बिहार विधानसभा के लिए पहले चरण की 71 सीटों के लिए नामांकन प्रक्रिया एक अक्टूबर से जारी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज