लाइव टीवी

भभुआ जेल में भी गूंज रहे छठी मइया के गीत, महिला छठ व्रतियों को सुविधाएं मुहैया करा रहा जेल प्रशासन

News18 Bihar
Updated: November 1, 2019, 11:09 AM IST
भभुआ जेल में भी गूंज रहे छठी मइया के गीत, महिला छठ व्रतियों को सुविधाएं मुहैया करा रहा जेल प्रशासन
सहायक जेल सुपरिटेंडेंट सुभाष कुमार ने बताया कि इन महिला बंदियों ने उनसे इसबार जेल के अंदर ही छठ व्रत करने की अनुमति मांगी थी. इसके लिये अनुमति देते हुए कारा प्रशासन की ओर से उनकी पूरी मदद की जा रही है.

सहायक जेल सुपरिटेंडेंट सुभाष कुमार ने बताया कि इन महिला बंदियों ने उनसे इसबार जेल के अंदर ही छठ व्रत करने की अनुमति मांगी थी. इसके लिये अनुमति देते हुए कारा प्रशासन की ओर से उनकी पूरी मदद की जा रही है.

  • Share this:
कैमूर. गुरुवार को नहाय-खाय के साथ छठ महापर्व की शुरुआत होते ही भभुआ मंडल कारा में छठी मइया के गीत से गुंजायमान हो रहे हैं. जेल के अंदर भी पूरा माहौल भक्तिमय हो गया है. दरअसल जेल के भीतर बंद चार महिलाओं ने भी छठ कर रही हैं और कठिन अनुष्ठान में लीन हो गयी हैं. सबसे खास बात ये कि जेल प्रशासन भी इन छठ व्रतियों के लिए लिए प्रसाद के साथ-साथ अन्य व्यवस्था कर रहा है.

गौरतलब है कि छठ व्रत करने के लिए इन चारों महिला बंदियों ने जेल प्रशासन से मंडलकारा के अंदर छठ व्रत करने की अनुमति मांगी थी. इस मांग पर मंडल कारा प्रशासन ने जेल के अंदर छठ पूजा करने की अनुमति दे दी.

इसके साथ ही कारा प्रशासन ने पूजा सामग्री सहित पर्व में उपयोग आने वाली अन्य चीजों का भी इंतजाम कर दिया है. छठ के पहले दिन गुरुवार को चारो बंदी महिला व्रतियों ने कद्दू और चने की दाल और भात का प्रसाद बनाया और उस प्रसाद को बंदियों के बीच बांटा गया.

छठ पूजा चार दिन का पर्व है.
आज से 36 घंटे का निर्जला उपवास रखेंगी व्रतियां


दरअसल मंडलकारा भभुआ में बंद 14 महिला बंदियों में से भभुआ शहर के वार्ड संख्या 20 निवासी स्वर्गीय सुदामा चौधरी की पत्नी मुआ कुंवर और किलनी चांद निवासी सूरज यादव की पत्नी आशा देवी, रूपपुर भभुआ निवासी नगीना साह की पत्नी आशा देवी और सराय थाना मोहनिया निवासी और मंडलकारा में बंद चंद्रदेव विंद की पत्नी सिंधु देवी ने परिवार पर आयी विपत्ति और उनके सुख शांति के लिये छठ का व्रत करने का निर्णय लिया है.

सहायक जेल सुपरिटेंडेंट सुभाष कुमार ने बताया कि इन महिला बंदियों ने उनसे इसबार जेल के अंदर ही छठ व्रत करने की अनुमति मांगी थी. इसके लिये अनुमति देते हुए कारा प्रशासन की ओर से उनकी पूरी मदद की जा रही है. पूजन सामग्री बनाने के लिये जेल के अंदर ही चूल्हे का निर्माण कराते हुए ईंधन भी उपलब्ध करा दिया गया है.

रिपोर्ट- प्रमोद कुमार
Loading...

ये भी पढ़ें- 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कैमूर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 1, 2019, 10:57 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...