लाइव टीवी

बिहार में एक मुर्गे की हत्या के बाद बवाल, हत्यारों को ढूंढने में छूट रहे पुलिस के पसीने

Pramod Kumar | News18 Bihar
Updated: November 21, 2019, 5:59 PM IST
बिहार में एक मुर्गे की हत्या के बाद बवाल, हत्यारों को ढूंढने में छूट रहे पुलिस के पसीने
बिहार के कैमूर जिले का पुलिस थाना जहां एक मुर्गे की हत्या की प्राथमिकी दर्ज कराई गई है. (सांकेतिक फोटो)

महिला ने अपने सात पड़ोसियों के खिलाफ दुर्गावती थाने में नामजद प्राथमिकी (FIR) दर्ज कराई है. पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए मुर्गे को पोस्टमार्टम (Postmortem) के लिए पशु अस्पताल भेज दिया है.

  • Share this:
कैमूर. आमतौर पर पुलिस अपराधियों (Criminals) को खोजने की फिक्र करती है, लेकिन बिहार में पुलिस के लिए मुर्गे (Cock) के हत्यारों को ढूंढना चुनौती बन गया है. यह मामला कैमूर (Kaimur) का है जहां पुलिस मुर्गे के हत्यारे को ढूंढ रही है. कैमूर के दुर्गावती थाने में मुर्गे की हत्या को लेकर एक प्राथमिकी दर्ज की गई है, जिसमें 7 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया है.

पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार
पुलिस ने प्राथमिकी (FIR) दर्ज कर मुर्गे का पोस्टमार्टम भी कराया और मामले की छानबीन में जुट गई. मामला अजीबोगरीब जरूर है, लेकिन कैमूर पुलिस किसी इंसान की हत्या होने पर जितनी तत्परता नहीं दिखाती है, उससे ज्यादा वो मुर्गे की हत्या को लेकर परेशान है. वाकया कैमूर जिले के दुर्गावती थाना क्षेत्र के फिरोजपुर गांव का है. यहां एक महिला ने पोल्ट्री फार्म खोल रखा है. महिला का आरोप है कि पड़ोसी ने उसके फार्म से मुर्गा चुरा लिया. चोरी के दौरान जब पड़ोसी को लगा कि उसे फार्म  की मालकिन ने देख लिया है तो उसने मुर्गे को मार डाला.

हत्या के बाद हुई थी मारपीट

महिला कमला देवी और पुत्र इंदल कुमार का आरोप है कि वे जब इस बारे में पड़ोसी से बात करने गए, तो वह बहस करने लगा और मामला मारपीट तक पहुंच गया. विवाद में कमला देवी और पुत्र इंदल कुमार घायल हो गए. इसके बाद महिला ने अपने सात पड़ोसियों के खिलाफ दुर्गावती थाने में नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई है. पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए मुर्गे को पोस्टमार्टम के लिए पशु अस्पताल भेज दिया और 7 लोगों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी.

शराब के नशे में चुराया था मुर्गा
पीड़ित के परिजनों ने बताया कुछ लोग शराब के नशे में थे. मुर्गा चुराकर लेकर जा रहे थे. जब लोगों ने देखा तो मुर्गे की गर्दन दबाकर मार डाला. पशु चिकित्सक सुशील कुमार का कहना है कि दुर्गावती थाना पुलिस एक मुर्गे को लेकर आई थी, जो मरा हुआ था. मुर्गे की गर्दन के पास रुका हुआ खून मिला है. इसकी रिपोर्ट पुलिस को सौंपी गई है.
Loading...

पकड़े जाने पर की थी हत्या
इधर, राम प्रवेश राम का कहना है कि रात को गांव के करीब 10 लोग शराब पी रहे थे. इसी दौरान मुर्गा चुराया गया. जब मेरी पत्नी उनसे पूछने गई कि आप लोगों ने मुर्गा क्यों चुराया, तो वे लोग झगड़ने लगे और मुर्गे की गर्दन पकड़ कर मरोड़ दी, जिससे उसकी मौत हो गई. इस मामले में कैमूर के एसपी दिलनवाज अहमद ने बताया कि आरोपियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है. आगे की कार्रवाई के लिए पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार हो रहा है. सभी आरोपियों पर कार्रवाई की जाएगी.

ये भी पढ़ें: 

'कोई कुछ भी कर ले, देश में NRC लागू होकर रहेगा', JDU ने दिया ये जवाब
VIDEO: 'निकलो नहीं तो गोली मार देंगे', पटना पुलिस ने कुछ इस अंदाज में किया रेड

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कैमूर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 21, 2019, 4:32 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...