लाइव टीवी

बेरोजगार बेटे की शादी का झांसा देकर माल ऐंठते रहे रिश्तेदार, नाराज पिता ने बनाया बंधक

News18 Bihar
Updated: November 13, 2019, 4:21 PM IST
बेरोजगार बेटे की शादी का झांसा देकर माल ऐंठते रहे रिश्तेदार, नाराज पिता ने बनाया बंधक
कैमूर में पेड़ में बांधे गए बुजुर्ग रिश्तेदार

कैमूर एसपी दिलनवाज़ अहमद ने बताया कि मामला शादी का था. शादी करने से इन्कार करने पर लड़के वालों ने ही मध्यस्थों को पेड़ में बांधा था.

  • Share this:
कैमूर. बिहार के कैमूर (Kaimur) में विवाद का एक अनोखा मामला आया है. यहां शादी के लिए मध्यस्थता करने वाले दो लोगों को वर पक्ष के लोगों ने न केवल बंधक (Hostage) बनाया बल्कि पेड़ से भी बांधे रखा. सूचना पर पहुंची बेलाव थाना की पुलिस (Police) लोगों को थाने लेकर आई तब मामला सुलझा. घटना बेलाव के उफरवलिया गांव की है. दरअसल मंगलवार की शाम को बिरेंद्र दुबे और विपिन पांडेय दोनों बेलाव बाजार आ रहे थे इसकी सूचना उफरवलिया निवासी राम सेवक पांडेय को मिल गई. फिर क्या था अपने घरवालों के साथ आकर लोगों ने दोनों को बंधक बना लिया और जबरन गांव ले गए.

शादी की मध्यस्थता से जुड़ा है मामला

मामला शादी की मध्यस्थता से जुड़ा है. बताया जाता है कि राम सेवक पांडेय के बेरोजगार बेटे की शादी का झांसा देकर दोनों काफी दिनों से उनके पिता को बहला रहे थे. इस दौरान दोनों के उपर लड़के के पिता ने मोटी राशि भी खर्च की थी लेकिन शादी नहीं हो सकी. इससे नाराज लड़के के पिता राम सेवक पांडेय ने दोनों को बंधक बना लिया. गांव वालों ने विवाद बढ़ता देख इसकी सूचना बेलाव पुलिस को दी जिसके बाद पुलिस दोनों लोगो को मुक्त करा कर थाने ले गई.

लड़के के पिता ने स्वीकारी गलती

लड़के के पिता राम सेवक पांडेय ने कैमूर एसपी के पास गलती स्वीकार करते हुए बताया कि मेरे गांव के कुछ लोगों ने दोनों शख्स को पेड़ में बांध दिया था जब हमको पता चला तो हमने दोनों लोगों को छुड़या. कैमूर एसपी दिलनवाज़ अहमद ने बताया कि मामला शादी का था. शादी करने से इन्कार करने पर लड़के वालों ने ही मध्यस्थों को पेड़ में बांधा था. पुलिस ने दोनों लोगों को मुक्त करा दिया है और थाने ले आई है. एसपी ने बताया कि दोनों में से कोई भी पक्ष केस नहीं करना चाहता.

रिपोर्ट- प्रमोद कुमार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कैमूर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 13, 2019, 4:19 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर