लाइव टीवी

गोगाबिल झील को बतौर पर्यटन स्थल विकसित करने पर मछुआरों का विरोध

News18 Bihar
Updated: January 15, 2020, 2:07 PM IST
गोगाबिल झील को बतौर पर्यटन स्थल विकसित करने पर मछुआरों का विरोध
गोगाबिल झील को पर्यटन स्थल के तौर पर विकसित करने को लेकर कटिहार के मनिहारी में मझुआरों का विरोध.

जिला उप विकास आयुक्त वर्षा सिंह कहती हैं कि जल्द गोगाबिल झील इलाके में मछली मरने वालों को मछली मरने से रोक कर इस इलाके को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने की कवायद शुरू की जायेगी. जहां तक मछुआरों के रोजगार का सवाल है इस बारे में भी उन लोगों से बातचीत की जायेगी.

  • Share this:
कटिहार. मनिहारी अनुमंडल स्थित गोगाबिल झील को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने की चर्चा के बीच अब वर्षों से पुश्तैनी पेशा के रूप में मछली मारने से जुड़े हजारों मछुआरों के सामने रोजगार संकट आ खड़ा हुआ है. मछुआरे यह कहते हुए इस पर विरोध कर रहे हैं कि 87 एकड़ के इस जल भाग में पिछले 20 वर्षों से विदेशी पक्षी आते ही नहीं हैं, मगर कुछ जमींदार अपने निजी लाभ के लिए मनिहारी गोगाबिल झील के नाम पर सरकार को गुमराह कर रहे हैं. इसलिए हमारे रोजगार को संकट में डाल कर इस इलाके को पर्यटन के रूप में विकसित करने का कोई औचित्य ही नहीं है.


इस पर मछुआरा संघ के ग्रुप लीडर जनार्दन मण्डल कहते हैं कि वो लोग सोसाइटी के माध्यम से सरकार को राजस्व दे कर पुश्तैनी रूप से इस 87 एकड़ जल भाग में मछली मारते आए हैं. इस झील से जुड़ कर रोजाना 5 से 10 हजार मछुवारों का रोजगार जुड़ा हुआ है. यहां सरकारी आदेश से मछली मरना बंद हो जाने से दियारा इलाके से एक बड़ा रोजगार खत्म हो जाएगा.



मछुआरों के नेता काचू महलदार कहते हैं कि स्थानीय कुछ जमींदार सरकार को साइबेरियन पक्षी आने का झांसा दे कर गोगाबिल झील से जुड़े अपने आस-पास की जमीन की कीमत बढ़ाना चाहते हैं. जहां तक विदेशी पक्षी का सवाल है तो वे लगभग 20 सालों से गोगाबिल झील में आ ही नहीं रहे हैं. मगर सरकार फिर भी स्थल जांच के बगैर ही उनलोगों की बात पर गुमराह हो कर इस 10 हजार मछुआरों के रोजगार को संकट में डाल रही है.


इस मामले में जिला उप विकास आयुक्त वर्षा सिंह कहती हैं कि जल्द गोगाबिल झील इलाके में मछली मरने वालों को मछली मरने से रोक कर इस इलाके को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने की कवायद शुरू की जायेगी. जहां तक मछुआरों के रोजगार का सवाल है इस बारे में भी उन लोगों से बातचीत की जायेगी.

ये भी पढ़ें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कटिहार से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 15, 2020, 1:29 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर