बाढ़ पीड़ितों को नहीं मिला सरकारी अनाज, चूहा खाकर भूख मिटाने को मजबूर

बाढ़ पीड़ित ताला मुरमुर ने बताया कि राहत के नाम पर अब तक चूड़ा मिला तो क्या करें साहब. भूख मिटाने के लिए पूरे परिवार को चूहे से ही गुजारा करना पड़ रहा है.

News18 Bihar
Updated: July 16, 2019, 12:02 PM IST
बाढ़ पीड़ितों को नहीं मिला सरकारी अनाज, चूहा खाकर भूख मिटाने को मजबूर
हाथों में चूहा लिया बिहार का बाढ़ पीड़ित परिवार
News18 Bihar
Updated: July 16, 2019, 12:02 PM IST
बिहार में बाढ़ की त्रासदी के बीच मानवता को शर्मसार करने वाली तस्वीर सामने आयी है. कटिहार में सरकारी मदद न मिलने से लाचार कई परिवार चूहा खाकर अपनी जान बचाने को मजबूर हैं.

एक दौर था जब समुदाय विशेष के लोग चूहा खा कर गुजारा करते थे मगर सरकार की कल्याणकारी योजनाओं ने इन लोगों की जीवन शैली में बड़ा बदलाव लाया था. लेकिन बाढ़ ने फिर से ऐसे कई परिवारों को चूहा खाने पर मजबूर कर दिया है. कटिहार के कदवा प्रखंड के डांगी टोला की इस तस्वीर पर प्रशासन चाहे जो भी सफाई दे स्थानीय विधायक शकील अहमद खान इससे इंसानियत के लिए शर्मशार बता रहे हैं.

खाने में चूड़ा नहीं तो चूहा सही

बाढ़ पीड़ित ताला मुरमुर ने बताया कि राहत के नाम पर अब तक चूड़ा मिला तो क्या करें साहब. भूख मिटाने के लिए पूरे परिवार को चूहे से ही गुजारा करना पड़ रहा है. कटिहार के कदवा प्रखंड के डांगी टोला गांव के कई घर विनाशकारी बाढ़ में डूब गए हैं. घर-बार डूबने के बाद परिवार के लिए रसद जुटाने की जिम्मेदारी दादा और पोते पर आ टिकी है. उन्होंने कहा कि उम्मीद थी की राहत के नाम पर कुछ रसद मिलेगी मगर खाली हाथ लौटने से तो अच्छा है की फिर से मजबूरी में ही सही कुछ चूहा मार कर ले चलें जिससे परिवार के अन्य लोगों का पेट भरा जा सके.

सरकारी मदद की जानकारी देता बाढ़ पीड़ित परिवार


बाढ़ में 300 से ज्यादा परिवार फंसे 

बाढ़ से डांगी टोला में लगभग 200-300 परिवार बुरी तरह से फंसे हुए हैं. इसीलिए कभी चूहा खाने से तौबा कर चुका यह समाज अब एक बार फिर चूहा खाने के लिए बेबस है. इस सवाल के जवाब पर बीडीओ राकेश गुप्ता ने चूहा खाने की जानकारी अब तक उन्हें नहीं होने की बात कहा. लेकिन स्थानीय विधायक शकील अहमद खान ने इसे इंसानियत के लिए शर्मसार घटना बताते हुए प्रशासन पर बाढ़ पूर्व तैयारी को लेकर पूरी तरह फेल होने का आरोप लगाया. उन्हें जल्द कदवा को बाढ़ ग्रसित क्षेत्र घोषित करने की मांग की.
Loading...

इलाके में बाढ़ पीड़ितों के बारे में जानकारी देते स्थानीय विधायक


बता दें कि इन दिनों बिहार में 12 जिले बाढ़ में डूबे हैं. इससे यहां की 20 लाख से ज्यादा की आबादी प्रभावित हुई है. बाढ़ की वजह से अब तक एक दर्जन लोगों के डूबने से मौत की खबर है.

(रिपोर्ट- सुब्रत गुहा)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कटिहार से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 16, 2019, 11:19 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...