कटिहार: सौरभ हत्याकांड में 4 को उम्रकैद, फांसी के लिए हाईकोर्ट में परिजन करेंगे अपील

14 नवंबर 2016 को सौरभ के चाचा सहित 6 लोगों ने साजिश कर सौरभ का अपहरण किया था. इसमें लितेश चौधरी, दीपक झा, अमर चौरसिया, कुणाल पासवान के अलावा दो नाबालिग भी शामिल था.

News18 Bihar
Updated: April 27, 2019, 5:19 PM IST
कटिहार: सौरभ हत्याकांड में 4 को उम्रकैद, फांसी के लिए हाईकोर्ट में परिजन करेंगे अपील
कटिहार में सौरभ हत्याकांड में चार को उम्रकैद की सजा सुनाई गई
News18 Bihar
Updated: April 27, 2019, 5:19 PM IST
बिहार के कटिहार जिले के चर्चित सौरभ हत्याकांड का आज जिले की एक अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया. जिला एवं सत्र न्यायाधीश प्रदीप कुमार मल्लिक ने चार आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा सुना दी.  हालांकि इस फैसले से सौरभ के परिजन खुश नजर नहीं हैं. सौरभ के पिता जय चौधरी ने कहा कि सभी आरोपियों को फांसी की सजा होनी चाहिए. आजीवन कारावास के फैसले पर अब सौरभ के परिजन हाईकोर्ट में फांसी की सजा के लिए अपील करने की बात कह रहे हैं.

गौरतलब है कि 14 नवंबर 2016 को सौरभ के चाचा सहित 6 लोगों ने साजिश कर सौरभ का अपहरण किया था. इसमें लितेश चौधरी, दीपक झा, अमर चौरसिया, कुणाल पासवान के अलावा दो नाबालिग भी शामिल था. इन 6 अपराधियों ने मिलकर 14 नवंबर 2016 को सौरभ का अपहरण कर उनके पिता जय कुमार चौधरी से 50 लाख रूपय फिरौती मांगी थी.



ये भी पढ़ें- नीतीश-रामविलास के सामने बोले गिरिराज- कोई हिंदुओं से बीफ खाने की बात कहे, मुझे बर्दाश्‍त नहीं

घर में बार-बार फोन कर फिरौती की रकम मांग रहे थे वहीं जय कुमार चौधरी ने 30 लाख रुपए देने का वादा भी किया था. जब बात नहीं बनी तो सौरभ के पिता जय कुमार चौधरी ने 17 नवंबर 2016 को नगर थाना में एफ आई आर दर्ज करवाया दिया.

कटिहार में सौरभ मर्डर केस के दोषियों को सजा सुनाने के बाद मीडिया से बात करते परिजन


अनुसंधान के बाद  28 फरवरी 2017 को इन 6 अपराधियों को पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया.  सभी अपराधियों के निशानदेही पर 1 मार्च 2017 को मनिहारी के बाघमारा में दीपक झा के खेत से सौरव का शव बरामद किया गया.

ये भी पढ़ें- केसी त्यागी का कटाक्ष, कहा- कांग्रेस के कई 'मित्रों' में अब हमारे 'शत्रु' का भी नाम शामिल
Loading...

मामले की सुनवाई न्यायालय में शुरू हुई तो इनमें दो अपराधी नाबालिग पाया गया जिसे न्यायालय द्वारा बाल सुधार गृह पूर्णिया में रखा गया, लेकिन इनमें से एक बाल सुधार गृह पूर्णिया से मौका देख कर फरार हो गया. वहीं दूसरे को कोर्ट ने बेल दे दिया था.

आज इसी मामले में कटिहार जिला सत्र न्यायाधीश प्रदीप कुमार मल्लिक ने नगर थाना कांड संख्या 741/16 पर सुनवाई करते हुए सौरभ के चाचा सहित चारों आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई.

ये भी पढ़ें-
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...