लाइव टीवी

यूट्यूब से सीखा मोमबत्ती बनाना, अब घर-परिवार को रोशन कर रहीं कटिहार की प्रतिभा

Subrata Guha | News18 Bihar
Updated: October 25, 2019, 7:57 PM IST
यूट्यूब से सीखा मोमबत्ती बनाना, अब घर-परिवार को रोशन कर रहीं कटिहार की प्रतिभा
कटिहार के हसनगंज प्रखंड की प्रतिभा ने यूट्यूब से सीखकर मोमबत्ती उद्योग की शुरुआत की.

बिहार के कटिहार (Katihar) में स्वरोजगार के लिए महिलाओं को प्रोत्साहन देने वाली प्रतिभा देवी ने मोमबत्ती उद्योग (Candle Industry) के जरिए सैकड़ों घरों और परिवारों में आत्मनिर्भरता (Woman Empowerment) की अलख जगाई.

  • Share this:
कटिहार. रोशनी के त्योहार दीपावली (Dipawali 2019) के मौके पर इस बार जब आप अपने घरों को मिट्टी के दीये, मोमबत्ती, बिजली के बल्ब या लड़ियों से सजाएंगे, उस वक्त बिहार के कटिहार (Katihar) जिले के सैकड़ों घरों में भी इस दीपोत्सव की रोशनी फैलेगी. आम घरों के मुकाबले कटिहार के इन घरों की दिवाली रोशनी के साथ-साथ प्रेरणा देने वाली भी होगी, क्योंकि यहां के घरों में 'दीदी की मोमबत्ती' जलेगी. जी हां, कटिहार के हसनगंज (Hasanganj Block) प्रखंड की रहने वाली प्रतिभा, महिलाओं में आत्मनिर्भरता की अलख जगाने वाली वह प्रेरणास्रोत है, जिनकी जिद और जुनून ने आज कई महिलाओं को स्वरोजगार से जोड़ा है. प्रतिभा ने यूट्यूब (YouTube) से मोमबत्ती बनाना सीखा और इसके उद्योग से जुड़ गईं. आज प्रतिभा के साथ-साथ हसनगंज की कई महिलाएं इस उद्योग से जुड़कर खुद को आत्मनिर्भर बना चुकी हैं.

यूट्यूब को बनाया सफलता का साधन
हसनगंज प्रखंड के कालीगंज गांव की प्रतिभा देवी के मोमबत्ती उद्योग से जुड़ने की कहानी दिलचस्प है. दरअसल, अपने गांव के आसपास के इलाकों में लोगों की रोजमर्रा की जरूरत को देखते हुए प्रतिभा की नजर मोमबत्ती बनाने के काम पर गई. गांव में मोमबत्ती बनाने का प्रशिक्षण देने वाला तो कोई था नहीं, सो उन्होंने सोशल मीडिया साइट यूट्यूब को ही अपना 'गुरु' बना लिया. उन्होंने यूट्यूब पर मोमबत्ती बनाने की तमाम तकनीक सीख ली और खुद का उद्योग लगाने की योजना बनाई. अपनी लगन और जुनून की बदौलत प्रतिभा ने यह काम सीखकर अपने इलाके की कई और महिलाओं के साथ मिलकर उद्योग लगा लिया. आज प्रतिभा और उनके समूह की महिलाओं के बनाए प्रोडक्ट को पूरे हसनगंज में 'दीदी की मोमबत्ती' के नाम से जाना जाता है.

Katihar woman learn candle making from You Tube-Woman Empowerment
प्रतिभा की मेहनत ने कालीगंज की अन्य महिलाओं को भी दी प्रेरणा.


छोटी शुरुआत को बड़ी मंजिल देने की चाह
कालीगंज में कुछ महिलाओं के साथ शुरू किए गए मोमबत्ती उद्योग की इस मशाल को प्रतिभा और आगे तक ले जाना चाहती हैं. न्यूज 18 के साथ बातचीत में प्रतिभा ने बताया, 'दीपावली और छठ के अलावा रोजमर्रा की जरूरत को देखते हुए हम लोगों ने यह काम शुरू किया था. अभी तो सिर्फ शुरुआत है. गांव की महिलाओं के साथ मिलकर मैं इस काम को धीरे-धीरे और ऊंचाई तक ले जाना चाहती हूं.' प्रतिभा के साथ काम करने वाली किरण देवी बताती हैं कि घरों में पर्व-त्योहार के अलावा आम दिनों में भी मोमबत्ती की जरूरत होती है. इस उद्योग के जरिए हम लोग न सिर्फ दूसरे घरों को रोशन कर रहे हैं, बल्कि इसमें बेहतर रोजगार की भी संभावना है.

सरकार भी कर रही तारीफ
Loading...

प्रतिभा और उनके जैसी कई अन्य महिलाओं के मोमबत्ती उद्योग को अब न सिर्फ पूर्णिया जिले में तारीफ मिल रही है, बल्कि सरकारी अधिकारी भी उनकी हौसला अफजाई कर रहे हैं. हसनगंज के प्रखंड परियोजना प्रबंधक हिमांशु शेखर ने कहा कि महिलाओं द्वारा खुद की आर्थिक आजादी के लिए शुरू किए गए इस उद्योग से न सिर्फ घर-परिवारों में आत्मनिर्भरता आ रही है, बल्कि यह ग्रामीण अर्थव्यवस्था की मजबूती में भी सहायक है. शेखर ने कहा कि इन महिलाओं की हरसंभव मदद करने के लिए सरकार हमेशा तैयार है.

ये भी पढ़ें -

जानिए कौन हैं बिहार LJP की कमान संभालने वाले प्रिंस राज

AIMIM की जीत पर बोले गिरिराज- ओवैसी की जिन्नावादी सोच, कांग्रेस बोली- दोनों उन्मादी चाहते हैं ध्रुवीकरण

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कटिहार से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 25, 2019, 7:12 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...