कौन हैं बिहार के डिप्टी सीएम की रेस में सबसे आगे चल रहे तारकिशोर प्रसाद

कटिहार से चार बार के बीजेपी विधायक तार किशोर प्रसाद
कटिहार से चार बार के बीजेपी विधायक तार किशोर प्रसाद

बिहार के भावी डिप्टी सीएम (Bihar Deputy CM) के रूप में चर्चा का केंद्र बने तारकिशोर प्रसाद को सीमांचल में बीजेपी (BJP) का सबसे मजबूत स्तंभ माना जाता है. वो विद्यार्थी जीवन में एबीवीपी (ABVP) से जुड़ने के बाद बीजेपी के भी दमदार नेता हैं और कटिहार से चार बार के विधायक हैं.

  • Share this:
पटना. बिहार में नई सरकार के गठने के बीच जो नाम सबसे अधिक चर्चा में है वो है तारकिशोर प्रसाद (BJP MLA TarKishore Prasad). तारकिशोर प्रसाद एक आम भाजपा कार्यकर्ता से उप मुख्यमंत्री (Bihar Deputy CM) पद के सबसे प्रबल दावेदार कैसे बन गए ये हर कोई जानना चाह रहा है. कटिहार से बीजेपी के विधायक तारकिशोर प्रसाद की कहानी बड़ा ही निराली है. अति साधारण और शांत स्वभाव के कारण हर दिल अजीज का तमगा हमेशा उनके साथ जुड़ा रहा है.

तारकिशोर प्रसाद मूल रूप से 1974 छात्र आंदोलन की उपज हैं. इस दौरान वो भूमिगत होकर भी आंदोलन को धार देते रहे और फिर 1980 में सक्रिय राजनीति में आ गए. 1976 में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के रास्ते उन्होंने राजनीति शुरू की. 1981 से 83 तक वो कटिहार भाजपा नगर महामंत्री पद पर आसीन रहे और लगातार अपनी कर्म दक्षता के कारण 1997 में प्रदेश कार्यकारिणी समिति के सदस्य भी चुने गए.





2005 से अब तक वो लगातार चार बार विधायक चुने गए हैं. विधायक चुने जाने के साथ ही सीमांचल में भाजपा के वो मजबूत स्तम्भ रहे हैं. तार किशोर प्रसाद के बारे में कहा जाता है कि वो सबकी सुनते हैं और आम हो या खास सभी से वह अति साधारण तरीके से बात करते हैं. इसलिए क्षेत्र में बड़े-बड़े दिग्गज और राजनीतिक समीकरण के उठापटक के बावजूद उनके राजनीतिक सेहत पर इसका कोई असर नहीं पड़ा और अब वो राजनीति के शिखर पुरूष बनकर उप मुख्यमंत्री के प्रमुख दावेदारों में हैं.
उनकी इस उपलब्धि को लेकर आवास के अलावे पूरे कटिहार में जश्न का माहौल है. जिला भाजपा मीडिया प्रवक्ता कहते हैं कि वो अक्सर कैप्टन कूल जैसे रहते हैं और अब इस बड़ी उपलब्धि को हर कोई अपनी उपलब्धि के रूप में जोड़कर  देखते हुए बेहद भावुक है. तारकिशोर प्रसाद के रणनीतिकार वीरेंद्र यादव और बबन झा कहते हैं की तारकिशोर प्रसाद को बड़ा पद मिलना तय है, इसलिए पार्टी तो अभी शुरु हुई है और यह जश्न लंबे दौर तक जारी रहेगा. भाजपा के लोग कहते हैं कि इसी पार्टी में ऐसा संभव है जहां एक साधारण कार्यकर्ता को भी अर्श से फर्श तक पहुंचने का मौका मिलता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज