बंद कमरे में महिला के साथ रंगरेलिया मना रहा था पुलिसवाला, लोगों ने पहले धुनाई की फिर SP ने किया सस्पेंड

कटिहार में भीड़ के हत्थे चढ़ा पुलिसवाला
कटिहार में भीड़ के हत्थे चढ़ा पुलिसवाला

बिहार के कटिहार (Katihar) में हुई इस घटना के बाद आरोपी पुलिसवाले (Policeman) के खिलाफ विभागीय कार्रवाई की भी कवायद तेज हो गई है. लोगों का आरोप है कि आरोपी पिछले कई दिनों से महिला के साथ संबंध बना रहा था.

  • News18 Bihar
  • Last Updated: November 12, 2020, 12:53 PM IST
  • Share this:
कटिहार. बिहार में पुलिस की वर्दी (Policeman) एक बार फिर से दागदार हुई है. मामला कटिहार (Katihar) से जुड़ा है जहां के बरारी थाना क्षेत्र के बरारी हाट तिरासी टोला में बुधवार देर रात में आपत्तिजनक स्थिति में एक पुलिस पदाधिकारी को लोगों ने महिला के साथ पकड़ा. लोगों न जब पुलिस एएसआई को पकड़ा तो वो चड्डी बनियान में थे इसे देख कर लोग काफी आक्रोशित हो गए.

आक्रोशित लोगों ने बरारी थाना में तैनात पुलिस पदाधिकारी बालेश्वर प्रसाद को बंधक बनाकर मारा पीटा  और घटना की सूचना वरीय पुलिस पदाधिकारियों को भी दी. घटना की सूचना के बाद बरारी थाना अध्यक्ष संजय कुमार  घटनास्थल पर पहुंचे. काफी मशक्कत के बाद पुलिस पदाधिकारी को लोगों के आक्रोश से मुक्त करवाया गया.

ग्रामीणों की मानें तो पुलिस पदाधिकारी ने शादीशुदा महिला के साथ पिछले कई दिनों से अवैध संबंध बनाकर रखा था जिसका विरोध महिला के दिव्यांग पति द्वारा किया जा रहा था. विरोध करने के बाद भी एएसआई अपनी आदत से बाज नहीं आ रहे थे. बुधवार की महिला के साथ आपत्तिजनक स्थिति में एएसआई को सबसे पहले महिला की ननद ने देखा. आपत्तिजनक स्थिति में देखकर उसके द्वारा हल्ला के जाने के बाद लोग आक्रोशित हो गए और संबंधित पुलिस पदाधिकारी को हाथ पैर बांधकर बंधक बना लिया.



महिला के पति का कहना है कि संबंधित पुलिस पदाधिकारी ने उसे भी हाथ बांधकर घर में बंद कर दिया था और उसके पत्नी के साथ गलत कर रहा था. बरारी थानाध्यक्ष से लोगों ने संबंधित एएसआई के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग करते हुए एएसआई के खिलाफ लिखित आवेदन देने की बात कही है.
पुलिस के द्वारा समझाने के बाद लोगों का गुस्सा शांत करवाते हुए आरोपी पुलिस पदाधिकारी को बरारी थाना पुलिस ने लोगो के चुंगल से  मुक्त करवाया. आरक्षी अधीक्षक विकास कुमार ने कहा कि आरोपी सहायक पुलिस अवर निरीक्षक को निलंबित करते हुए इस मामले में थानाध्यक्ष से रिपोर्ट मांगी गई है. रिपोर्ट मिलने के बाद जरूरत पड़ने पर प्रशासनिक कार्रवाई भी करने की अनुशंसा भी की जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज