पुणे हादसा: बिहार के एक ही गांव के रहने वाले थे 15 मृतक, इलाके में पसरा मातमी सन्नाटा
Katihar News in Hindi

पुणे हादसा: बिहार के एक ही गांव के रहने वाले थे 15 मृतक, इलाके में पसरा मातमी सन्नाटा
पुणे में हुए हादसे में जान गंवाने वाले 15 लोग बिहार के कटिहार के बलरामपुर थाना क्षेत्र के बघार गांव के निवासी बताए जा रहे हैं. हादसे में 17 लोगों के मारे जाने की खबर है लेकिन पुणे जिला प्रशासन ने 15 लोगों के मौत की पुष्टि की है.

पुणे में हुए हादसे में जान गंवाने वाले 15 लोग बिहार के कटिहार के बलरामपुर थाना क्षेत्र के बघार गांव के निवासी बताए जा रहे हैं. हादसे में 17 लोगों के मारे जाने की खबर है लेकिन पुणे जिला प्रशासन ने 15 लोगों के मौत की पुष्टि की है.

  • Share this:
महाराष्ट्र के पुणे स्थित कोंढवा में शनिवार को एक सोसायटी की दीवार गिरने से दर्जनभर से ज्‍यादा लोगों की मौत हो गई है. हादसा पुणे कोंढवा इलाके में तालाब मस्जिद के पास हुआ, जहां 60 फीट ऊंची एक दीवार ढहकर वहां बनी टिन के झोपड़ियों पर गिर गई.

दीवार गिरने से 4 बच्चों समेत 17 लोगों के मरने की खबर है, जबकि कुछ लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका है. वहीं, पुणे जिला प्रशासन ने 15 लोगों के मौत की पुष्टि की है. मौके पर राहत और बचाव का कार्य भी जारी है. मृतकों में ज्यादातर कटिहार के निवासी हैं. मरने वालों में 15 कटिहार के बलरामपुर थाना क्षेत्र के बघार गांव के निवासी बताए जा रहे हैं. कटिहार जिलाधिकारी ने भी इस मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि मृतकों में सभी मजदूर बलरामपुर के बघार गांव के ही हैं. मामले की जानकारी मिलने के बाद बारसोई अनुमण्डल पदाधिकारी को बघार गांव भेज दिया गया है.

मजदूरी करते थे मृतक



हादसे की सूचना मिलते ही गांव में कोहराम मच गया है. जानकारी के मुताबिक, हादसे का शिकार हुए सभी मजदूर कंस्ट्रक्शन का काम करने वाले थे. जिस इलाके में ये हादसा हुआ है वहां बिहार और बंगाल के मजदूर ही रह रहे थे. फायर डिपार्टमेंट के अधिकारी ने बताया कि मृतकों में नौ पुरुष, एक महिला और चार बच्चे शामिल हैं.
हादसे का शिकार सभी 15 लोग कंस्ट्रक्शन मजदूरी का काम करने वाले थे. उनकी मौत की खबर आने के बाद कटिहार जिले के उनके गांव में कोहराम मच गया है. (फोटो: पीटीआई)


चार-चार लाख का मुआवजा

प्राप्त जानकारी के मुताबिक, मलबे से अब तक चार लोगों के शव निकाले गए हैं. अभी भी कुछ लोगों के दबे होने की आशंका है. एनडीआरएफ का रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने भी इस हादसे के बाद दुख जताया है. उन्होंने कहा कि पीड़ित परिवार के साथ मेरी संवेदना है. पुणे कलेक्टर को गहन जांच के लिए आदेश दे दिए हैं. मृतकों के परिवार के लिए एनडीआरएफ ने चार-चार लाख रुपए के मुआवजे की घोषणा की है.

ये भी पढ़ें- पहले पिटाई की फिर चप्पल पर थूक फेंक कर चटवाया

ये भी पढ़ें- तेजस्वी यादव ने की 'वापसी', बताई अपने लापता रहने की ये वजह..
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज