बर्निंग ट्रेन बनने से बची तिनसुकिया एक्सप्रेस, रेलकर्मियों की तत्परता से टला बड़ा हादसा

गाड़ी तिनसुकिया से चलकर राजेंद्र नगर के रास्ते नई दिल्ली जा रही थी. रेल कर्मियों ने थ्रू आउट ट्रेन को लाल सिग्नल देकर किसी प्रकार रोका और तुरंत ही अग्निशमन यंत्र लेकर दौड़ लगाई

News18 Bihar
Updated: March 12, 2019, 12:49 PM IST
बर्निंग ट्रेन बनने से बची तिनसुकिया एक्सप्रेस, रेलकर्मियों की तत्परता से टला बड़ा हादसा
आग को बुझाते रेलकर्मी
News18 Bihar
Updated: March 12, 2019, 12:49 PM IST
मंगलवार को तिनसुकिया एक्सप्रेस बर्निंग ट्रेन बनने से बाल-बाल बच गई. इस दौरान ट्रे्न लगभग 37 मिनट तक रुकी रही. घटना बारसोई-कटिहार रेलखंड की है. जानकारी के मुताबिक मंगलवार की सुबह बारसोई-कटिहार रेलखंड पर सोनैली स्टेशन के पास 3281 न्यू तिनसुकिया एक्सप्रेस जो तिनसुकिया से चलकर राजेंद्र नगर नई दिल्ली को जाती है के इंजन से पीछे पांचवी बोगी के निचले हिस्से में अचानक से काफी धुआं उठने लगा.

ये भी पढ़ें- होली में घर जाना हो तो न हों परेशान, बिहार जाने के लिए इन स्पेशल ट्रेनों से करें यात्रा



थ्रू आउट ट्रेन को सोनैली स्टेशन पर रोककर स्टेशन मैनेजर आलोक दत्ता व अन्य कर्मियों द्वारा बर्निंग ट्रेन बनने से बचा लिया गया. धुआं देखते ही यात्रियों में अफरा-तफरी का माहौल कायम हो गया और सभी ट्रेन से बाहर आ गए. रेल कर्मियों ने थ्रू आउट ट्रेन को लाल सिग्नल देकर किसी प्रकार रोका और तुरंत ही अग्निशमन यंत्र लेकर दौड़ लगाई और आग पर काबू पाया. इस दौरान ट्रेन लगभग 37 मिनट तक स्टेशन पर खड़ी रही.

ये भी पढ़ें- सीट शेयरिंग को लेकर अब दिल्ली में होगा फैसला, राहुल गांधी ने कांग्रेस के शीर्ष नेताओं को बुलाया

ट्रेन 9 बज कर 22 मिनट पर स्टेशन पर रुकी. स्थिति सामान्य होने के बाद ट्रेन को 9 बजकर 59 मिनट पर रवाना किया गया. स्टेशन प्रबंधक आलोक कुमार दत्ता ने बताया यदि रेल कर्मियों द्वारा आग नहीं देखी जाती तो एक बड़ा हादसा हो सकता था. उन्होंने कहा कि जांच के उपरांत ही पता चल पाएगा कि किन कारणों से बोगी के निचले हिस्से में इतना काफी धुआं उठा था.

रिपोर्ट- सुब्रत गुहा
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...